मोदी सरकार आने के बाद विपक्ष हर मुद्दे पर पीएम मोदी को घेरने की कोशिश करता रहता है लेकिन समय समय कुछ ऐसी रिपोर्ट्स और बयान आते रहते है जिनसे विरोधियों को झटका लग जाता है. अभी हाल ही भारत ने विश्वबैंक की कारोबार सुगमता रिपोर्ट रैंकिंग में लंबी छलांग लगायी. भारत ने 30 अंक सुधारकर 100 वें स्थान पर पहुँच गया है. मोदी सरकार आने से  पहले 2014 में भारत इस रैंकिंग में 144वें स्थान पर था. अब विश्वबैंक ने भी भारत को लेकर कुछ ऐसा कहा  है जिससे विरोधियों को झटका लग सकता है.

Source

दरअसल विश्वबैंक ने प्रति व्यक्ति आय में हो रही वृद्धि को लेकर विश्वबैंक ने भारत की तारीफ करते हुए कहा है कि उन्हें इसमें कोई शक नही है कि भारत 2047 में विश्व का उच्च मध्यम आय वाला देश बन जाएगा जब ये देश अपनी आजादी की 100वीं वर्षगाँठ मना रहा होगा.विश्व बैंक की सीईओ (मुख्य कार्यकारी अधिकारी) क्रिस्टलीना जॉर्जिया ने शनिवार (4 नवंबर) को कहा कि पिछले तीन दशकों में भारत में प्रति व्यक्ति आय चार गुना बढ़ी है.

Source

व्यापार में आसानी के मामले में 30 पायदान सुधारने पर भी जार्जिया ने तारीफ करते हुए कहा कि यह मौका एक प्रभावशाली उपलब्धि का जश्न मनाने के लिए है.पिछले कुछ सालों में व्यापार में आसानी के मामलें में अचानक 30 अंक का सुधार दुर्लभ है. व्यापार करने में भारत की रैंकिग में आये सुधार को लेकर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भी तारीफ की है.

Source

विश्वबैंक ने यह भी कहा कि भारत शीर्ष उन 10 देशों में शामिल है जो कारोबार के मामले में सुधारकर्ता में शीर्ष पर हैं. यह पहला मौका है जब भारत 100 पायदान पर कारोबार के मामले में सुधार करने पर पहुंचा है. पीएम मोदी ने इस पर अपनी प्रतिक्रया देते हुए कहा है कि सरकार सुधार, निष्पादन और रूपांतरण के मंत्र के साथ रैंकिंग में और सुधार तथा आर्थिक वृद्धि में तेजी लाने को प्रतिबद्ध है. जाहिर सी बात है एक तरफ विरोधी प्रधानमंत्री पर कुछ भी विकास न करने का तंज कसते हैं वहीं उनके लिए ये किसी झटके से कम नही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here