मोदी सरकार के चार साल पूरे हो चुके हैं, इस सरकार से आपको कोई निजी फायदा हुआ है या नहीं, इस बहस में ना पड़ते हुए आपको ये बताना चाहूँगा कि देश को बीते इन चार सालों में बहुत फायदा हुआ है. दुनिया के तमाम देश भारत की बढ़ती अर्थव्यवस्था की तरफ नजर किये हुए हैं. अभी जल्द ही आई विश्व बैंक की रिपोर्ट में पता चला है कि विश्व की इकोनॉमी में भारत का छठा स्थान हो गया है. इस रेस में भारत ने फ़्रांस जैसे बड़े देश को भी पछाड़ दिया है. वैसे ऐसा होना भी मोदी सरकार की नीतियों का कमाल है.

कई मौकों पर पीएम मोदी ने साबित किया है कि देश की जनता ने जिस विश्वास के साथ उन्हें सत्ता सौंपी थीं, उस विश्वास को उन्होंने नहीं तोड़ा है(फोटो सोर्स-India Today)

अब ईरान ने दिया भारत को ‘खुश’ होने का मौका

वैसे भारत की तरक्की सिर्फ अर्थव्यवस्था के मामले में ही नहीं बल्कि और दूसरे क्षेत्रों में भी हुई, जिसका श्रेय मोदी सरकार को जाता है. आज दुनिया के कई देश भारत के साथ व्यापार करना चाहते हैं. इस सरकार में भारत के रिश्ते दूसरे देशों के साथ बेहतर भी हुए हैं. इन्हीं बेहतर रिश्तों का नतीजा ही है कि कच्चे तेलों का बड़ा निर्यातक देश ईरान(इराक और सऊदी अरब के बाद) ने भारत के लिए दिल खोलकर समर्थन दिया है.

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने पीएम नरेंद्र मोदी के बीच अच्छे रिश्तों को आप इस तस्वीर से समझ सकते हैं (फोटो सोर्स: जी न्यूज़)

ईरान ने कहा कि, ‘भारत को तेल की कमी नहीं होंगे देंगे’

भारत और ईरान की दोस्ती को आप इसी बात से समझ सकते हैं कि, ईरान की तरफ से तेल के मामलों में बयान आया है कि, “भारत को किसी कीमत पर तेल की कमी नहीं होंगे.” आपको बता दें कि ईरानी दूतावास से एक बयान जारी किया है जिसमें कहा गया है कि, “वह उर्जा के अस्थिर बाजार को देखते हुए भारत की परेशानी को समझता है और इससे निपटने के लिए वह भारत की मदद करेगा, इसके लिए तेल की आपूर्ति को सुनिश्चित करने के लिए वह अपना सर्वश्रेष्ठ देगा.”

अब भारत इकॉनोमी के मामले में फ़्रांस को पछाड़कर छठे स्थान पर आ चुका है (फोटो सोर्स:)

यह बयान ऐसे समय में आया है जब अमेरिका ने भारत को..

वैसे यह बयान ऐसे समय में आया है जब अमेरिका ने भारत को आगाह करते हुए कहा था कि, ‘वह ईरान से तेल आयात को शून्य कर दे.’ दरअसल अमेरिका ने ईरान के साथ परमाणु समझौते को रद्द कर दिया है. इसके साथ ही वो चाहता है कि भारत समेत और दूसरे देश ईरान के साथ 4 नंबवर तक तेल का आयात शून्य स्तर तक कर दें.

आपके लिए एक सवाल:

भारत दुनिया की छठी इकॉनोमी वाला देश बन चुका है, इसका श्रेय मोदी सरकार को देते हैं आप ?

 

न्यूज़ सोर्स: जी न्यूज़