सर्दियाँ दस्तक दे चुकी हैं और आप देख ही रहे होंगे कि कोहरा पड़ने लगा है. कोहरे की वजह से हर साल यातायात प्रभावित होता है साथ ही भारतीय रेलवे भी प्रभावित होती है. कोहरे की वजह से ट्रेन लेट होती हैं जिसकी वजह से सम्पूर्ण भारतवासियों को इसकी मार झेलनी पड़ती है. हर साल की भांति इस साल भी ट्रेनें देरी से चल रही हैं. बता दें कि इस साल भारतीय रेलवे और रेलमंत्री पीयूष गोयल इस समस्या से निपटने की तैयारियों में जुटे हुए हैं. इस समस्या से निपटने के लिए भारतीय रेलवे कुछ परिक्षण कर रही है जिसके बाद से उम्मीद जताई जा रही है कि कोहरे की वजह से अब ट्रेन लेट नहीं होंगी. बता दें कि रेलमंत्री पीयूष गोयल ने जबसे भारतीय रेलवे का कार्यभार संभाला है तभी से उन्होंने भारतीय रेलवे के सुधार के लिए ताबड़तोड़ कदम उठाये हैं. अब उनका यह कदम ऐतिहासिक सिद्ध होगा !

Source

भारतीय रेलवे ने उत्तर की तरफ जाने वाली सभी ट्रेनों में एलईडी फॉग लाइटों और अन्य विशेष तकनीकों का प्रयोग करने की चर्चा की थी लेकिन अभी भी यह परिक्षण प्रोसेस में है. कोहरे की वजह से उत्तर की तरफ जानें वाली सभी ट्रेने प्रभावित हो रही हैं. दुर्घटना और सुरक्षा को देखते हुए घने कोहरे में ड्राईवर ट्रेन की रफ़्तार को घटाकर 15 किलोमीटर प्रति घंटा तक ले आते हैं. जिसकी वजह से ट्रेनें 4 घंटा से लेकर 22 घंटे तक लेट हो जा रही हैं.

Source

इस समस्या के लिए अब भारतीय रेलवे और रेलमंत्री पीयूष गोयल ट्रेन प्रोटेक्शन वार्निग सिस्टम (टीपीडब्ल्यूएस), ट्रेन कोलिजन एवायडेंस सिस्टम (टीसीएएस) और टैरिन इमेजिंग फॉर डीजल ड्राइवर्स (ट्राई-एनईटीआरए) सिस्टम के साथ नई तकनीक वाली एलईडी फॉग लाइट्स लाने की तैयारी कर रही है जो कोहरे में साफ देखने में कारगर होगी. रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएनएस को बताया है कि  “कोहरे के कारण ड्राइवर को सिग्नल ठीक से दिखता नहीं है, इसलिए दुर्घटना का खतरा रहता है। इसलिए वे रफ्तार काफी कम रखते हैं।” उन्होंने बताया है कि यह सिस्टम अभी तक 35 इंजनों में लगाया गया है जो ड्राईवर को घने कोहरे और बारिश में भी सिग्नल देखने में कारगर सिद्ध होगा.

News Source-जनसत्ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here