कहना शायद ही गलत हो कि सुषमा स्वराज को आज लोग उनके ओहदे से ज्यादा उनके कामों के लिए जानने लगे हैं. वजह भी लाज़मी है. देश और दुनिया के किसी भी कोने से मदद की एक गुहार पर एड़ी-चोटी का ज़ोर लगाकर ज़रुरतमंदों को मदद पहुंचाकर सुषमा स्वराज ने आज देशवासियों के दिलों में एक अलग ही जगह कायम कर ली हैं, लेकिन हाल ही में एक ऐसा वाकया देखने को मिला जहाँ यूपी की महिला बॉक्सर ने सुषमा स्वराज से मदद मांगी तो जवाब में सुषमा स्वराज ने उनसे एक शर्त रख डाली.

 

जानिये क्या है वो शर्त?

मामले उत्तरप्रदेश के मुज्जफरनगर जिले का है जहाँ की एक महिला बॉक्सर, झलक तोमर ने सुषमा स्वराज से तत्काल पासपोर्ट दिलाने की मांग की थी. झलक यूक्रेन में होने वाली ‘वैलेरिया डेम्नायोवा मेमोरियल’ प्रतियोगिता में हिस्सा लेना चाहती हैं. जानकरी के अनुसार वो इसके लिए पूरी तरह से योग्य भी हैं,यकीन यहाँ एक समस्या उनका रास्ता रोक रही है. समस्या है उनके पासपोर्ट की. झलक की इस समस्या को सामने लाते हुए एक यूजर अदिति शर्मा ने विदेश मंत्री को टैग कर ये समस्या संज्ञान में लायी थी.

जवाब में सुषमा स्वराज ने रख दी ये शानदार शर्त

मदद की गुहार सुनते ही सुषमा स्वराज ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया, लेकिन ये मदद बाकी मदद से शायद अलग थी. वो इसलिए क्योंकि सुषमा स्वराज ने मदद करने के बदले झलक से एक शर्त रखी थी. शर्त ये कि सुषमा स्वराज उन्हें पासपोर्ट दिला देंगी तो उन्हें भी बदले में मैडल जीत कर लाना होगा. जी हाँ, ऐसी ही तो हैं हमारी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज. झलक की मदद वाले ट्वीट के जवाब में सुषमा स्वराज ने कहा कि, ” झलक – मैंने दिए नंबर पर बात की. तुम्हें कल सुबह तक पासपोर्ट मिल जाएगा. तुम्हें देश के लिए एक मेडल जीत के लाना है.”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here