15 अगस्त के दिन यहाँ के मुसलमानों ने जो किया उसे जानकर आप चौक जायेंगे!

पूरा भारत आज आजादी का जश्न मना रहा है. देश भर में कोने कोने में मौजूद स्कूलों और कॉलेज में तिरंगा को सलामी देकर आजादी का 71वें साल की ख़ुशी मना रहा है. इस बार 15 अगस्त से पहले कई तरह के बवाल भी हहुआ. वन्दे मातरम को लेकर, राष्ट्रगान हो लेकर. कहीं आदेश जारी किया गया तो कहीं कानून बनाकर वन्दे मातरम् गाने के लिए कहा गया. इस बाद का विरोध भी खूब हुआ कुछ लोगो ने इस बात का समर्थन भी किया लेकिन आज जो हम आपको दिखाने जा रहे है इसे देखकर आप हैरत में पड़ जायेंगे.

Source

दरअसल हम आपको एक फोट दिखाने जा रहे है जिसमें कुछ लोग तिरंगे को सलामी दे रहा है. तिरंगे को सलामी देने के लिए ये लोग पानी में घुसे हुए है. उनके साथ कुछ बच्चे भी है जो गर्दन तक पानी में डूबे दिखाई दे रहे है. यह फोटो एक स्कूल की है जहां 15 अगस्त के दिन यह लोग तिरंगे को फहराने और सलामी देने के लिए कितने पानी में डूबकर आये है.

Source

दरअसल यह फोटो असम के ढुबरी जिले की है। मिजानूर रहमान ने अपने पोस्ट पर अपलोड की है और कहा-  मै इस स्कूल में टीचर हु देखिए किस परिस्थिति में ये लोग तिरंगे को सलामी देने के लिए आये है.  इसके बाद मिजानूर ने अपने स्कूल के बारे में जानकारी दी है और सब कुछ बताया. बतादें कि पोस्ट होने के 2 मिनट बाद ही यह फोटो वायरल हो गयी.

मिज़ानुर ने लिखा है कि सभी को स्वतंत्रता दिवस की शुभकानाएं। मैं इस स्कूल में टीचर हूं। स्कूल का नाम है नसकारा एलपी स्कूल और ये असम के ढुबरी जिले में है। कहने की जरूरत नहीं है कि हम लोग यहां किस हालात में हैं, तस्वीर सारी कहानी खुद बयां कर रही है।

Source

आपको यह बताते चलें कि असम इस समय बुरी तरह बाढ़ की चपेट में है.ब्रम्हपुत्र और उसकी सहायक नदियाँ खतरे के निशान से उपर बह रही है. बाढ़ की वजह से करीब 15 जिलों के 781 जिले के 12 लाख बुरी तरह प्रभावित है इसके साथ कई अन्य राज्यों में बाढ़ से बुरे हालात बने हुए है.

Source

इसके साथ साथ बिहार में भी हालात बहुत ख़राब है.कई इलाको से सम्पर्क टूट चूका है .अररिया, सुपौल, किशनगंज, कटिहार, सीतामढ़ी, पूर्वी चम्पारण और पश्चिमी चंपारण जिलों के करीब दो दर्जन से ज्यादा प्रखंडों में स्थिति भयावह है। कई जगहों में रेल स्टेशन पर पानी भर जाने और पटरी बह जाने से यातायात पूरी तरह बाधित हुआ है.

Source

आपकी जानकारी के बता दें कि कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश द्वारा जारी किये गये आदेश जिसमें प्रदेश के सभी मदरसों में तिरंगा फहराना और राष्ट्रीय गीत और राष्ट्रगान भी गाना अनिवार्य करने के साथ उसकी वीडियोग्राफी भी करवानी जरुरी कर दी गयी है. जिसके बाद पूरे देश में इसको लेकर बवाल मच गया था.

Source

इसके अलावा मुंबई के महानगरपालिका द्वारा बनाए गये कानून की वजह से जिसमें सभी स्कूलों में हस्ते में कम से कम 2 दिन वन्दे मातरम् गाना अनिवार्य किया गया है. अभी यह कानून मुख्यमंत्री के पास होने के लिए गयी है.

Facebook Comments