लड़कियों के साथ लगातार हो रही छेड़छाड़ और उससे उठी सुरक्षा की मांग से शुरू हुए बीएचयू आंदोलन ने अब राजनीतिक रूप ले लिया है जो की वाकई दुखद है. अफ़सोस होता है जानकर की लड़कियों की इज्ज़त से जुड़ा एक इतना गंभीर मुद्दा जिसपर कौन कहे की मिलकर समाधान निकाला जाए बल्कि कुछ लोग तो इसमें भी राजनीति करने से बाज़ नहीं आ रहे हैं.

source

ऐसे में इसी बीच आंदोलन की अगुवाई करने वाली एकता सिंह ने NDTV के बारे में चौंकाने वाले खुलासे किये हैं. 

एकता सिंह ने एक फेसबुक पोस्ट के जरिए सनसनीखेज ख़ुलासा करते हुए बताया कि, “बीएचयू गेट पर आंदोलन पर बैठी और टीवी चैनलों को इंटरव्यू दे रही कई लड़कियां बाहर से मंगाई गई हैं.” यकीनन इस पोस्ट से एकता ने ना सिर्फ एक ख़ुलासा किया है बल्कि ndtv को भी बेनक़ाब किया है.

एकता सिंह ने अपने पोस्ट में लिखा कि, “साथियों एक मजेदार बात सामने आई है. NDTV जी आज कैंपस में आंदोलन कवर करने आई और उनके पीछे ही एक कार आयी. वैन में से निकले कैमरामैन जी और कार से निकले रिपोर्टर जी और 5-6 लड़कियां जो चुपचाप आकर बाकि लड़कियों के बीच बैठ गयीं. रिपोर्टर जी फिर सामने से आके उन लड़कियों की बाइट लिए. फिर वो लड़कियां उसी कार में बैठकर फुर्र हो गयीं.” 

source

एकता की इस पोस्ट से साफ़ साबित होता है कि दाल में यकीनन कुछ काला है. सवाल लाज़मी हैं, गाड़ी NDTV के साथ ही क्यों आई? NDTV के रिपोर्टर्स ने (जैसा की एकता सिंह ने बताया) उन्ही लड़कियों से क्यों सवाल तलब किये जो उस गाड़ी से उतरीं थीं, खासकर जब उन लड़कियों का बीएचयू से कोई सारोकार ही नहीं है? और सबसे बड़ा सवाल, कि गाड़ी में आयीं वो लड़कियां आखिर थीं कौन और उनका क्या मकसद था? जानकारी के लिए बता दें कि एकता सिंह ने इसके अलावा कुछ और सनसनीखेज ख़ुलासे भी किये हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here