ये बात तो सब जानते है की कलियुग में एकमात्र हनुमान जी ऐसे देवता है जो धरती पर है, पर सवाल ये उठता है की अगर वो धरती पर है तो कहा क्योंकि मूर्ति में तो आप हर देवता के दर्शन करते है l हम आज ये बताने जा रहे है की पवनपुत्र हनुमान सिर्फ मूर्ति में ही नहीं हकीक़त में धरती में विराजमान है और ऐसा माना जाता है की वो हिमालय के जंगलो में वास करते है !

9510117f582323e9afd6faa6fb9d5140_1432550445
source

त्रेतायुग के अंत में जब भगवान् राम बैकुंठ धाम को पधार गए थे उस वक़्त कोई था जो कलियुग के अंत तक धरती पर भगवान् राम की भक्ति और जन कल्याण हेतु रुका l कलियुग में एकमात्र भगवान् बजरंग बली है जिनका अस्तित्व आपको इस धरातल पर मिलेगा जो आपको बताएगा की हिन्दू धर्म कितना प्राचीन और महत्वपूर्ण है l
आप जो अब पढने जा रहे है वो न ही सिर्फ दिलचस्प है बल्कि अविश्वसनीय भी, इसे पढने और जानने के बाद आपका भगवान् के प्रति श्रधा व विश्वास और दृढ होगा….जय बजरंग बली !

आगे जानिये की रामायण काल खत्म होते ही हनुमान जी  कहा और किस जगह साक्षात भ्रमण करते रहे और उन्होंने कौन सा ऐसा मन्त्र दिया जिसके जाप से वो स्वयं प्रगट हो जाते है पर उस मन्त्र के जाप के लिए भी आपको 2 शर्ते पूरी करनी पड़ती है, और आज के वक़्त को देखते हुए हर किसी में इतना सामर्थ्य नहीं की वो ये दो शर्ते पूरी कर पाए अगर वो शर्ते या नियम कोई पूरी करता है तो वो प्रजाति श्री लंका के जंगलो में रहती है और हर ४१ साल बाद उनकी पीढ़ी हनुमान जी के दर्शन प्राप्त करती है l 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here