भारत और पाकिस्‍तान के रिश्तों में काफी समय से तनाव चल रहा है. जिसको लेकर ये कयास लगाये जा रहे थे की पीएम मोदी और नवाज सरीफ की मुलाकात होना बहुत मुश्किल है. लेकिन मुलाकात की अटकलों के बीच एक रिसेप्शन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नवाज शरीफ एक दूसरे से मिले और उसके बाद जो हुआ उसको देखकर सब लोग हैरान रह गए.
आपको बता दें कि 2016 की शुरुआत में पठानकोट अटैक से माहौल ऐसा बना कि दोनों देशों के बीच रिश्ते बिगड़ते चले गए. 2016 में जुलाई के दौरान एक बार नवाज शरीफ और पीएम मोदी शंघाई सहयोग संगठन की बैठक के दौरान आमने-सामने थे, लेकिन उनके बीच कोई द्विपक्षीय बैठक नहीं हुई थी.

पीएम मोदी और नवाज शरीफ कल एक एक रिसेप्शन कार्यक्रम में एक दूसरे से मिले और वहां एक दूसरे का अभिवादन किया. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में शामिल होने आए नेताओं के स्वागत के लिए ओपरा में एकत्र नेताओं के बीच दोनों प्रधानमंत्रियों ने एक दूसरे का हालचाल पूछा. पीएम मोदी ने शरीफ से उनके स्वास्थ्य के बारे में बातचीत की. साथ ही उन्होंने उनकी मां और परिवार का हालचाल जाना.

source

पीएम मोदी ने शरीफ से उनके स्वास्थ्य के बारे में बातचीत की. साथ ही उन्होंने उनकी मां और परिवार का हालचाल जाना. इससे पहले विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता से पूछा गया था कि क्या मोदी और शरीफ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे, इस पर गोपाल बागले ने कहा कि भारत के रुख में कोई बदलाव नहीं है.

शंघाई सहयोग संगठन के दो दिवसीय सम्मेलन की शुरुआत में बृहस्पतिवार को प्रतिभागी देशों के नेताओं के लिए रिसेप्शन और गाला शो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नवाज शरीफ भी शामिल हुए. कजाखस्तान के राष्ट्रपति नूर सुल्तान नजरबायेव ने रिसेप्शन पार्टी का आयोजन किया था.

इसमें नरेंद्र मोदी, शरीफ, व्लादिमीर पुतिन और शी जिनपिंग भी मौजूद थे. स्वागत समारोह के लिए रवाना होने से पहले शरीफ से जब मीडियाकर्मियों ने सवाल किया तो वो मुस्कुराए और हाथ हिलाकर चले गए.