श्रीलंका के तेज़ गेंदबाज लसिथ मलिंगा को टिप्पणी करना भारी पड़ गया है l अक्सर बोलने को लेकर बहुत खिलाडी चर्चा में रहे हैं तथा इस प्रकार किसी पर टिपण्णी करना भारी पड़ा है,ऐसे खिलाडियों को उसकी कीमत बैन एवं जुर्माने से चुकानी पड़ती है इसी तरह का बैन श्रीलंका के गेंदबाज मलिंगा पर श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने मलिंगा पर यह बैन अनुबंध संबंधी उल्लंघन मामले में लगा है, बैन के साथ ही उनपर अगले वनडे मैच की फीस का 50 फीसदी जुर्माना भी लगा है l

Source

हालांकि इस फैसले का जिम्बाब्वे सीरिज पर कुछ असर नहीं पड़ने वाला है l मलिंगा को पहले दो वनडे मैच में उनका नाम 13 लोगो   की सूची में शामिल किया गया है l गौरतलब है कि एसएलसी ने कहा था कि मलिंगा ने 19 जून और उसके बाद 21 जून को दो बार करार के नियम का उल्लंघन किया, जिसके चलते बोर्ड को उनके खिलाफ जांच बिठानी पड़ी l जिसके बाद श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने मलिंगा पर 6 महीने का बैन लगा दिया l

Source

आपको बता दें कि श्रीलंका के चैंपियंस ट्रॉफी से जल्दी बाहर होने के बाद जयशेखरा ने खिलाड़ियों के फिटनेस स्तर पर सवाल उठाए थे और कहा था कि भविष्य का चयन क्रिकेटरों की फिटनेस पर निर्भर करेगा. जिसके बाद 33 वर्षीय मलिंगा ने कहा था कि उन्हें ऐसे लोगों की आलोचनाओं से कोई फर्क नहीं पड़ता जो केवल बैठकर अपनी कुर्सियां गर्म कर रहे हैं l

बता दें की मलिंगा पर यह कार्रवाई अपने देश के खेल मंत्री दयासिरी जयशेखरा के खिलाफ कुछ टिप्पणियां करने के लिए हुईं हैं l मलिंगा ने खेल मंत्री पर टिपण्णी करते हुआ कहा कि एक बंदर को तोते के घोंसले के बारे में क्या पता होगा? ऐसा लग रहा है कि एक बंदर तोते के घोंसले में ही बैठकर उसी घोंसले के बारे में बोल रहा हो.” मलिंगा के इस जवाब के बाद जयासेकारा ने कहा था, “मैंने टीम के खिलाड़ियों की फिटनेस को लेकर की गई आलोचना में मलिंगा का नाम नहीं लिया था, लेकिन उन्होंने सार्वजनिक रूप से मेरा अपमान किया है !