भारत में काले धन को वापस लाने की पहल काफी टाइम से चल रही है. जैसे ही चुनाव आते हैं राजनीतिक पार्टियों को काले धन का मुद्दा याद आ जाता है. हर पार्टी काले धन को वापस लाने की बातें करती है लेकिन दशकों से चले आ रहे इस मुद्दे पर कभी ऐसी खबर नहीं आई जो अब आई है और ये खबर काले धन के स्वर्ग कहे जाने वाले स्विस बैंको से आई है.

source

भारतीयों द्वारा 2016 में जमा कराया गया धन स्विस बैंकों में घटकर आधा रह गया है. अब भारतीयों का लगभग 4500 करोड़ रुपए स्विस बैंकों में मौजूद है. इस तरह कहा जा सकता है कि कालेधन के खिलाफ मोदी सरकार द्वारा चलाए जा रहे अभियान के चलते स्विस बैंकों में अब कालेधन में कमी आ रही है.

source

कालेधन को लेकर यह जानकारी स्विटजरलैंड के केन्द्रीय बैंकिंग प्राधिकरण स्विस नेशनल बैंक द्वारा दी गई है. इस रिपोर्ट की माने तो भारतीयों के धन में 2016 में 45 प्रतिशत तक की कमी आई है. इस तरह इस धन में सबसे बड़ी वार्षिक गिरावट दर्ज की गई है.

source

यह 1987 के बाद की सबसे बड़ी सालाना गिरावट है. हालांकि ये आंकड़े कथित कालेधन के बारे में कोई जानकारी नहीं देते लेकिन फिर भी कालेधन के खिलाफ मोदी सरकार के क़दमों से फर्क दिखता तो नज़र आ ही रहा है.