पूरी दुनिया में भारतीय अपनी प्रखरता के लिए जाने जाते हैं. आज दुनिया में भारतीयों ने कई बड़े पद हासिल कर सिद्ध कर दिया है कि उन जैसा कोई नहीं है. अमेरिका जैसे विकसित देश में भारत के कई लोग बड़े पदों पर काबिज हैं. चाहे चिकित्सा का क्षेत्र हो या विज्ञान का हर जगह भारतीय ने अपना लोहा मनवाया है. अब खबर आ रही है कि इंग्लैंड में भारतीय मूल के एक 11 वर्षीय बच्चे ने एक कारनामा किया है. जिसकी वजह से आज उसको पूरी दुनिया जानती हैं.

 

source

भारतीय मूल के एक 11 साल के बच्चे ने आईक्यू टेस्ट में 162 अंक हासिल कर. देश का सबसे ज्यादा बुद्धिमान बच्चा बन गया है. इस बच्चे ने महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग से दो अंक ज्यादा मिले. दक्षिण इंग्लैंड के अर्णव शर्मा  ये टेस्ट देने बिना किसी तैयारी के गए थे उसके वाबजूद भी उसने ये टेस्ट पास किया बल्कि बहुत अच्छे अंक भी हासिल किये.

source

अर्णव ने बताया की ‘मेन्सा टेस्ट मुश्किल होता है और कई लोग इसे पास नहीं कर पाते. मुझे तो इसे पास करने की उम्मीद नहीं थी. मैंने यह टेस्ट दिया और इसमें करीब ढाई घंटे लगे.’ इस टेस्ट को देने के लिए में बिलकुल भी उत्सुक नहीं था. लेकिन जब टेस्ट का परिणाम आया तो में हैरान था. मेरा परिवार हैरान हुआ लेकिन वे भी बहुत खुश थे जब मैंने उन्हें परिणाम के बारे में बताया.’

source

ये टेस्ट पास करके अर्णव ने भारत का नाम भी रोशन किया जिसने ये साफ बता दिया की भारत के लोग दुनिया में किसी से भी कम नहीं है. फिर बात चाहे पढ़ाई की हो या फिर किसी भी प्रतियोगिता की भारत किसी में भी पीछे नहीं है.