पिछले शनिवार को पुलिस मुठभेड़ में मारे गये खूंखार अपराधी आनंदपाल के परिजनों का शव को लेकर विरोध व प्रदर्शन हो रहा है l मुठभेड़ में मारे गये आनंदपाल के परिजन इस मामले की सीबीआई से जाँच कराने की मांग के साथ-साथ सात-सूत्रीय मांग पत्र पेश कर स्वीकार करने की मांग कर रहे हैं नहीं तो शव नहीं उठाएंगे l सीबीआई से जांच की मांग को लेकर नागौर में राजपूत समुदाय ने शुक्रवार को धरना-प्रदर्शन किया गया था l स्थानीय अदालत ने पुलिस के साथ मुठभेड़ के दौरान मारे गये आनंदपाल के शव का फिर से पोस्टमार्टम करने के शुक्रवार को आदेश दिए थे l

Source

हफ्ते भर से राजपूत समाज के लोग लामबंद होकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे थे l इसी बीच एक महिला ने एक पत्र वायरल किया जिसमे उसने लिखा कि जब उस हत्यारे आनंदपाल ने मेरे पति को गोलियों से छलनी किया था तब राजपूत समाज कहा था l क्या में और मेरा परिवार राजपूत नहीं था l उस समय कहा चले गये थे विरोध-प्रदर्शन करने वाले राजपूत महिला ने मुझे कम उम्र में विधवा बना दिया था l

Source

यह महिला हिम्मत सिंह राजपूत की पत्नी ममता कँवर है l गौरतलब है आनंदपाल ने हिम्मत सिंह को सरेआम गोलियों से भून दिया था l ममता कँवर का यह मेसेज सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है l ममता कँवर ने मेसेज में कहा है कि में आनंदपाल की पत्नी और परिवार पर इस समय क्या गुजर रही होगी अच्छे से समझ सकती हूँ मेरी सहानुभूति उनके साथ है l

 

Source

ममता ने प्रदर्शन कर रहे राजपूत भाइयों से निवेदन करते हुए कहा है कि क्षत्रिय होने के नाते वह पहले मुझे और मेरे परिवार को न्याय दिलायें इसी अपराधी आनंदपाल व उसके गेंग ने मेरे पति हिम्मत सिंह को बिना गलती के सरेआम गोलियों से भून दिया था l

Source

मेसेज में अन्य मामलों का जिक्र करते हुए लिखा कि क्या गलती थी फतेहपुर के उस सरकारी अध्यापक जितेंद्र सिंह राजपूत की जिसको आनंदपाल के गैंग ने आनंदपाल के कहने पर सिर्फ ढाई लाख रूपये के लिये मार उसकी पत्नी को शादी के छह महीने बाद ही विधवा कर दिया l ममता ने एनकाउंटर करने वाले पुलिसकर्मियों का धन्यवाद कहा है ljgjgjh