30 जून को मध्यरात्रि से पूरे देश में (कम्मू-कश्मीर के अलावा) GST बिल लागू कर दिया गया है|  देश में GST पारित करने और उसे लागू करने के लिए केंद्र सरकार ने क्या कुछ नहीं किया| GST बिल की शुरूआत से ही विपक्ष ने इसपर अपनी असहमति बनाये रखी थी| यहाँ तक कि जब विपक्ष को यकीन हो गया कि अब GST बिल लागू होने से कोई नहीं रोक सकता तो आखिरी अडंगा डालते हुए उन्होंने ये तक कह डाला कि कुछ भी हो वो 30 जून को GST बिल लागू कराते समय सदन में मौजूद नहीं होंगे| खैर इन सब के बावजूद आज देश में GST लागू हो चुका है और केंद्र सरकार की माने तो जल्द ही देश की जनता को इसका फायदा भी नज़र आएगा| अभी GST बिल पास हुए महज़ कुछ ही घंटे बीतें हैं कि इससे जुड़ी एक बड़ी खबर आ गयी है|

source

GST से 48 घंटे पहले केंद्र सरकार की सर्जिकल स्ट्राइक  

मौका था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) में हो रहे एक भाषण का जहाँ उन्होंने खुद बताया कि कैसे देश में GST लागू होने के ठीक 48 घंटे पहले उन्होंने अपनी सरकार के साथ मिलकर लगभग एक लाख फ़र्ज़ी कम्पनीयों पर ताला लगाया है| पीएम मोदी ने बताया कैसे इधर पूरा देश GST की राह तक रहा था और उधर महज़ एक कलम उठकर उनकी सरकार ने इन फर्जी कंपनियों का रजिस्ट्रेशन रद्द कर डाला|

source

भ्रष्टाचार और कालेधन पर भी किया ये बड़ा खुलासा  

अपने इसी भाषण के दौरान पीएम मोदी ने बताया कि कैसे भारत देश के दो सबसे बड़े दीमक भ्रष्टाचार और कालाधन के खिलाफ उनकी सरकार ने हर भरसक कोशिश की है और ये कहना गलत नहीं होगा कि वो कोशिशें काफी हद तक सफल भी हुईं हैं|

source

GST के बाद ये था पीएम मोदी का पहला भाषण

जीएसटी लागू होने के बाद पीएम मोदी का यह पहला सार्वजनिक भाषण था जिसमे पीएम मोदी ने बताया कि कुछ कंपनियों के रजिस्ट्रेशन को रद्द करने के बाद भी अभी असली चुनौती बाकी है| पीएम मोदी ने बताया कि सरकार ने लगभग 37 हजार शेल कंपनियों की पहचान कर ली गई है, जो पैसा इधर से उधर करती हैं|  इसके अलावा तीन लाख कंपनियां संदेह के घेरे में हैं|

source

पीएम मोदी ने आश्वासन दिलाया है कि गैर कानूनी काम करने वाली इन कंपनियों के खिलाफ उचित कार्यवाई हो रही है और आने वाले दिनों में सरकार इनके खिलाफ और सख्त कदम उठा सकती है|

देश के लोग चोरी करने लगें तो विकास रुक जाता है

अपने इस भाषण में पीएम मोदी ने कहा कि यही नहीं अब गैर कानूनी लेन-देन करने वालों की भी पहचान की जाएगी| आंकड़ों के साथ बात करते हुए पीएम मोदी ने बताया कि देश में करोड़ों की संख्या में मेनेजर, इंजिनियर, और डॉक्टर हैं| साथ ही साल भर में दो करोड़ या उससे भी ज्यादा लोग विदेश दौरों पर जाते हैं| देश में हर साल करोड़ों की संख्या में गाड़ियाँ खरीदी जाती हैं लेकिन इन सभी आंकड़ों के बावजूद महज 32 लाख लोग ही ऐसे हैं जो अपनी कमाई 10 लाख रुपये से ज्यादा बताते हैं|

source 

आंकड़ों के बाद ये बात तो साफ है कि ऐसा हो ही नहीं सकता कि देश में केवल 32 लाख लोगों की ही कमाई 10 लाख से ऊपर है| यकीनन यहाँ साफ़-साफ़ चोरी की जा रही है| इसी बात को अपने भाषण में बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अगर देश के लोग चोरी करने लगें, तो विकास रुक जाता है| पीएम  मोदी ने कहा कि भारतीयों द्वारा विदेशों में जमा धनराशि अब तक के रिकॉर्ड में सबसे नीचे स्तर पर पहुंच गई है|

source

स्विस बैंक के खतों में भी आई है कमी

अपनी सरकार की एक और उपलब्धि बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि NDA की सरकार आने के बाद देखा गया है कि स्विस बैंकों में जमा भारतीयों के कालेधन में 45 फीसदी की कमी आई है, जबकि साल 2013 में विदेशों में जमा कालेधन में 42 फीसदी इजाफा हुआ था|  यह कालेधन के खिलाफ सरकार की कार्रवाई का नतीजा है|

source

ये है GST की खासियत

ये GST लागू होने के बाद पीएम मोदी का पहला भाषण था तो पीएम मोदी ने इस भाषण में GST बिल की विशेषता बताते हुए कहा कि, “GST भारत के अर्थव्यवस्था में एक नई राह की शुरुआत है|” जीएसटी आर्थिक स्वास्थ्य के लिए जरूरी है. सीए अर्थजगत के बड़े स्तंभ है, जिन पर देश की आर्थिक जिम्मेदारी होती है|