सुप्रीम कोर्ट का पुराने नोट जमा करने को लेकर बड़ा फैसला

नोटबंदी के दौरान देश भर में बहुत से ऐसे लोग रह गये जो अपने पुराने नोट जमा नहीं कर पाये थे l उन लोगों को ध्यान में रखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से इसके लिए 2 हफ्ते के अन्दर जवाब माँगा है l नोट बंदी के बाद निर्धारित अवधि में अपने पैसे जमा करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार और आरबीआई से पूछा है कि नोट बंदी के दौरान जो लोग नोट बंदी के बाद दिये वक्त में पुराने नोट जमा नहीं कर पाये सरकार उनके लिए कोई उपाय व रास्ता क्यूँ नहीं निकाल रही है l कोर्ट का कहना है कि जो लोग सही कारणों के चलते नोट जमा नहीं कर पाये उन लोगों के लिए तो सरकार द्वारा उनकी संपत्ति जब्त करने जैसा है l

Source

जो लोग नोट जमा नहीं कर पाये उन्हें मिलेगी राहत

सरकार इस तरह जनता के साथ अन्याय नहीं कर सकती जिन लोगों के पास नोट जमा करने का सही कारण है उन लोगों को मौका दिया जाना चाहिए l अगर मौका नहीं दिया जाता है तो यह गंभीर मुद्दा होगा l CJI ने उदाहरण के तौर पर कहा कि जो लोग जेल में बंद थे वो लोग कैसे पैसे जमा करा सकते थे l इस तरह के लोगों के लिये सरकार के लिए कोई न कोई उपाय निकालना चाहिये l

Source

वाजिब वजह वालों को मिल सकती है राहत

सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि जिन लोगों के पास वाजिब वजह है नोट न जमा करने की उन लोगों के लिए सरकार को कुछ करना होगा l केंद्र सरकार की तरफ से लोगों को 30 दिसम्बर तक नोट बदलने की तारीख दी गयी थी l केंद्र सरकार ने 8 नवम्बर 2016 को नोट बंदी की घोषणा की थी उस समय पुराने प्रतिबंधित 500 व 1000 के नोट जमा करने की एक तारीख तय की थी l उसके बाद रिज़र्व बैंक ने कहा था कि पुराने नोटों को 31 मार्च तक रिज़र्व बैंक में जमा किया जा सकेगा l आरबीआई ने नोट जमा करने के लिये शर्त लागू कर दी थी l

Source

एक महिला की याचिका पर कार्यवाई

जो लोग 30 दिसम्बर 2016 तक नोट जमा नहीं कर पाये थे उन लोगों को अपनी वजह बतानी होगी l एक तरफ एनआरआई लोगों के लिये पुराने नोट जमा करने की 30 जुलाई आखिरी तारीख दी थी वहीं बैंक 20 जुलाई तक पुराने नोट आरबीआई में जमा करवा सकते हैं l गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट एक महिला की याचिका पर एक्शन ले रहा है जिसमे उसने कहा है कि नोट बंदी के समय वह उस समय में अस्पताल में थी उसने एक बच्चे को जन्म दिया इस लिए वह  तय समय सीमा के अन्दर अपने पुराने नोट जमा नहीं कर पायी थी l

Source

 

सुप्रीम कोर्ट ने 2 हफ्ते में केंद्र सरकार से जवाब माँगा

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इस तरह की कई और याचिका हैं जिनमे उन लोगों ने कहा है कि निम्न मज़बूरी की वजह से पुराने नोट जमा नहीं कर पाये थे l इससे पहले कोर्ट ने 21 मार्च को कहा था कि जो लोग 30 दिसम्बर तक नोट जमा नहीं कर पाये थे सरकार उनके लिए कोई रास्ता व उपाय निकाले सुप्रीम कोर्ट ने इसके लिए 2 हफ्ते में जवाब माँगा है l