हाल ही में श्रीनगर से एक दिल दहला देने वाला वीडियो सामने आया था जहाँ इंसानों का एक हुज़ूम मस्जिद के अंदर अल्लाह से अपनी दुआ क़ुबूल कराने में जुटा था वहीँ मस्जिद के बाहर कुछ उपद्रवियों ने अल्लाह के एक नेक बंदे को अल्लाह के पास ही भेजने की तैयारी पूरी कर ली थी| अल्लाह के इस नेक बंदे का नाम था अयूब पंडित जो श्रीनगर के डीएसपी थे| डीएसपी आयूब गुस्साई भीड़ की क्रूरता का शिकार हुए थे जिसके बाद उन्होंने मौके पर ही दम तोड़ दिया था| वो मंज़र वाकई कितना खौफनाक रहा होगा सोचिये, जहाँ एक तरफ  मस्जिद से अल्लाह की इबादत का शोर था तो दूसरी तरफ गुस्साई भीड़ से खुद की जान की भीख मांगते डीएसपी आयूब|  इबादत में मशगूल लोगों ने श्रीनगर के डीएसपी अयूब की चीखें सुनी नहीं या शायद उन्होंने सुननी ही नहीं चाही|

source

डीएसपी अयूब की मौत से जुड़ा हुआ एक और बड़ा खुलासा

मुद्दा इतना गंभीर था कि इधर उसके सामने आने की देरी थी कि इधर ये खबर सोशल मीडिया पर आग की तरह फ़ैल गयी| लोगों में डीएसपी अयूब की मौत को लेकर अब काफी गुस्सा भर चुका था| डीएसपी अयूब की मौत के बाद उनकी मौत से जुड़ा एक बड़ा खुलासा किया है जिसे सुनकर आपको भी गहरा झटका लगने वाला है|

source

सरकार ने डीएसपी अयूब की दर्दनाक हत्या का वीडियो खरीद कर उसको डिलीट करवा दिया

डीएसपी अयूब की हत्या से जुड़ा अब एक बड़ा खुलासा हुआ है जिसके मुताबिक सरकार ने डीएसपी अयूब की दर्दनाक हत्या का वीडियो खरीद कर उसको डिलीट करवा दिया है| अबतक मिली खबर के अनुसार राज्य के वरिष्ठ अधिकारी ने हिंदुस्तान टाइम्स से इस बारे में बात करते हुए बताया कि डीएसपी की हत्या का वीडियो बहुत ही हिंसक था जिसकी वजह से राज्य सरकार ने सार्वजनिक नतीजों के डर से इसे खरीदा और नष्ट कर दिया।

source

उस वक़्त ड्यूटी पर तैनात थे डीएसपी अयूब जब गुस्साए लोगों ने उन्हें पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया था  

बता दें कि डीएसपी अयूब का शव श्रीनगर के मुख्य मस्जिद के बाहर पाया गया था। जहां शब-ए-कदर (23 जून) की रातको  हजारों की संख्या में लोग एकत्र हुए थे और उसके कुछ समय बाद ही उन्होंने डीएसपी अयूब को अपना शिकार बना लिया था। ख़बरों के मुताबिक डीएसपी मोहम्मद अयूब उस वक़्त हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेता मीरवाइज उमर फारुख की सुरक्षा में तैनात थे।

source

शहीद डीएसपी अयूब की हत्या के वीडियो की जानकारी भयावह है

जिस वीडियो को राज्य सरकार ने खरीद कर डिलीट तक कर दिया है उस वीडियो की जानकारी मात्र से आपकी रूह काँप जाएगी| बताया जा रहा है कि हत्या से पहले ही डीएसपी अयूब को नग्न कर दिया गया था जिसके बड़ा उग्र भीड़ ने उन्हें बुरी तरह से मारा था| यही नहीं डीएसपी अयूब के हाथ और पैरों को भी दरिंदगी से मरोड़ा गया था। इस वीडियो को देखने वाले अधिकारी ने बताया कि इसके सोर्स और वीडियो को नष्ट करने के लिए वित्तीय उपाय किए गए।

source

किसी नागरिक ने शूट किया था ये भयावह वीडियो

बताया जा रहा है कि डीएसपी अयूब के साथ हुयी दरिंदगी को भीड़ में ही मौजूद किसी युवक ने शूट किया था| यहाँ ये भी बात सामने निकल कर आई है कि हो सकता है जिस युवक ने ये वीडियो शूट किया था वो शायद घाटी में मौजूद कई एजेंसीयों के लिए ख़बरी का काम करता हो| बता दें कि जिन शीर्ष  अधिकारीयों ने मीडिया को ये खबर दी है उन्होंने अपने कार्यालय और विषय दोनों की संवेदनशीलता के कारण उनका नाम न छापने की शर्त पर यह खबर बताई है।

source

डीएसपी अयूब के पोस्टमार्टम में सामने आई ये चौंकाने वाली बात 

डीएसपी अयूब के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ये बात सामने आई है कि डीएसपी अयूब के साथ भीषण हिंसा की गयी थी| इसी हिंसा में उनके सिर पर कई घातक चोटें भी आई थी जिसके कारण उनके महत्वपूर्ण अंग बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए थे और इसी वजह से उनकी मौत हो गयी थी|  पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक डीएसपी पंडित के सिर पर कई गंभीर घाव, कई अंदरुनी चोंटे और कंधे के निकट खरोंच के कई निशान पाए गए थे।

source

डीएसपी को मौत के घाट उतारा क्योंकि उनके नाम में ‘पंडित’ लिखा था

शब-ए-कद्र की रात में अलगाववादियों का गढ़ कहलाने वाले डाउन-टाउन के उस मस्जिद के सामने जो हुआ वो मानवता को शर्मसार करने के लिए मानो काफी नहीं था कि इसी मुद्दे पर हुए एक बड़े खुलासे ने रही-सही मानवता की आस का भी गला घोंट दिया|  शहीद अयूब की मौत के बात तरह-तरह की बातें सोशल मीडिया पर चली|

देखिये वीडियो

https://youtu.be/MyTEj3yR1RA

उन्ही में से एक बात जो शहीद की मौत को और दुखद बनाती हैं वो ये कि डीएसपी अयूब  को लोगों के गुस्से का सामना इसलिए करना पड़ा क्योंकि उनकी वर्दी पर उनका नाम लिखा था. “एम. ए. पंडित|” किसने सोचा था कि जिस वर्दी ने, वर्दी पर जड़े सितारों ने, उस नेमप्लेट ने, जिसने आजतक डीएसपी अयूब को एक अलग पहचान दी थी आज वही उनकी मौत का सबब बन जायेगा? गुस्साई भीड़ ने उनके नाम में पंडित देखा और बिना कुछ सोचे समझे उन्हें मौत के मुंह में ले जाकर पटक दिया|