चीन दे रहा है भारत को कोरी धमकी 

चीन चाहे कितनी भी कोशिश कर ले भारत की बढ़ती हुई ताकत को वो नज़रअंदाज़ नहीं कर सकता. वो भारत से उलझने की कोशिश तो कर रहा है लेकिन ये बात भी उसको अच्छी तरह से पता है कि भारत, चीन का सबसे बड़ा बाज़ार है अगर उसने कोई भी हरकत की तो इसका नुकसान उसी को उठाना पड़ेगा. ख़ैर उसके द्वारा भारत की सीमाओं में घुसने का एक कारण ये भी है कि वो भारत को अपनी शक्ति का अहसास करा रहा है इसी बीच खबर आ रही है कि चीनी सेना ने युद्ध अभ्यास किया है. इस युद्ध अभ्यास का कारण जो भी हो लेकिन इतना तो जरुर है कि विश्व में भारत के बढ़ रहे दबदबे से चीन परेशान है.

source

सिक्किम बॉर्डर पर भारत और चीन के बीच तनाव बना हुआ है वहां पर चीन की हरकतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. इसी बीच चीन के सरकारी अखबार ने खबर देकर ये दावा किया है कि चीनी सेना ने समुद्र तल से 5100 मीटर की ऊँचाई पर युद्ध से जुड़ी सामाग्रियों को लेकर युद्ध का अभ्यास किया है.

source

चीन के अखबार ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक़ चीन के इस सैन्य अभ्यास में चीन की सेना ने उन्नत युद्धक टैंक 96-बी भी शामिल किये थे. इस सैन्य अभ्यास के बारे में ये तो नहीं बताया गया कि ये अभ्यास हुआ कब लेकिन इतना है कि हाल ही में इसको अंजाम दिया गया होगा. ग्लोबल टाइम्स ने गुरूवार को इस घटना का ज़िक्र ‘मिलिट्री ताकत की गलतफहमी न पाले भारत’ से छपी एक खबर में किया था.

source

झू हेपिंग ने भारत को लेकर दिया बयान 

चीन के एयर फ़ोर्स कमांड कॉलेज के वाइस प्रेसिडेंट झू हेपिंग ने धमकाते हुए अंदाज़ में कहा कि भारत डोकलाम में सड़क निर्माण के कार्य को रोक नहीं पाएगा झू हेपिंग चीन की आर्मी के रिटायर्ड जनरल भी हैं. बता दें कि डोकलाम क्षेत्र में सड़क निर्माण को लेकर भूटान ने चीन से आपत्ति जताई थी और भरतीय सैनिकों ने चीनी सैनिकों को रोक दिया था जिसके बाद चीन चिढ़ गया था.

source

झू ने भारत को लेकर आगे कहा, ‘भारत का हस्तक्षेप चीन को लेकर उसका रुझान दर्शाता है. यह बहुत ही छोटा और संकरा इलाका है, जहाँ बड़ी संख्या में सैनिकों को पूरी तरह से तैनात भी नहीं किया जा सकता.’ झू की बात से स्पष्ट होता है कि वो खुद को सही साबित करने की कोशिश कर रहे हैं. जबकि खुद चीन को भी पता होगा कि वो किसी दूसरे के इलाके में ये काम कर रहा है.

source

चीन दिखा रहा है अड़ियल रवैया

चीन के अड़ियल रवैये के चलते भारत और चीन के बीच तनातनी बनी हुई है, भारत की बढ़ती शक्ति को देखकर चीन के माथे पर बल पड़ गए हैं. इसी वजह से वो आए दिन भारत की सीमा पर अतिक्रमण करने की कोशिश कर रहा है. जहाँ एक ओर भारत की सिक्किम से लगी सीमा पर चीन मनमानी करने की कोशिश कर रहा है वहीं दूसरी ओर हिंद महासागर में भी चीन अपनी नौसेना की मौजूदगी बढ़ाने में लगा हुआ है, लेकिन अब वक्त बदल चूका है चीन की किसी भी हरकत का भारत मुंहतोड़ जवाब दे सकता है. अगर चीन कह रहा है कि भारत अपनी मिलिट्री ताकत की गलतफहमी न पाले तो इसमें भी चीन की खिसियाहट साफ़ दिखती है अगर उसे भारत से कोई डर नहीं है तो क्यों वो युद्ध अभ्यास कर रहा है. चीन की सेना द्वारा युद्ध अभ्यास किया जाना ये सन्देश तो देता ही है कि उसे भारत की शक्ति से खतरा है. इसी वजह से वो अब आए दिन भारत से उलझ रहा रहा है. वैसे चीन की हकीकत पूरा विश्व जानता है किस तरह वो अपनी मनमानी करता है वो संयुक्त राष्ट्र के निर्देशों का पालन भी नहीं करता.