राहुल गाँधी अपनी राजनीति को दुरुस्त करने के लिए काफी मेहनत कर रहे हैं और इसके लिए जब उन्हें लगता है तब बोलते भी हैं. मोदी इजराइल गये तो उसके कुछ दिन पहले राहुल गाँधी ने देश में वापसी की. दरअसल वो इटली चले गये थे और ऐसे वो बार बार करते हैं, जब भी देश में कोई गंभीर मुद्दा होता है वो देश के बाहर होते हैं. इधर चीन से भारत का विवाद बढ़ा तो उन्होंने इस सीमा विवाद पर भी ट्विटर पर मोर्चा खोला. ट्विटर पर उन्होंने पीएम मोदी को घेरने की कोशिश की लेकिन दांव उल्टा पड़ गया और उनकी धज्जियां उड़ गईं. राहुल गाँधी इससे पहले भी अपनी हरकतों से अपनी फजीहत करवा चुके हैं. कई ऐसे मौके आये जब राहुल गांधी के कई बयान लोगों को हँसने पर मजबूर कर जाते हैं.

Source

मिला होश उड़ा देने वाला जवाब:

आपको बता दें कि राहुल गाँधी पीएम मोदी को घेरते हुए  लिखा कि “चीन से हो रहे विवाद पर प्रधानमंत्री चुप क्यों है”, बस फिर क्या था राहुल गांधी का इतना लिखना ही था कि लोगों ने उनकी फजीहत करनी शुरू कर दी.सुरेश नाम के एक यूजर ने राहुल गांधी को जवाब देते हुए कहा कि “पप्पू को बोलो तुम पोगो देखो चीन पाकिस्तान को जवाब बराबर दिया जा रहा है प्रधानमंत्री देश की तरफ से जवाब दे रहे है”

Source 

जवाब मिला मोटरसाइकिल से बंगाल कब जा रहे हो:

राहुल गांधी की इस ट्वीट को पढ़कर कुछ यूजर ने मजेदार रिप्लाई किये जिनमें से सौरव कुमार नाम के एक यूजर ने लिखा कि “प्रधानमंत्री तो बोल देंगे लेकिन आप बंगाल कब जा रहे है मोटरसाइकिल लेकर |हिन्दूओ पर हो रहा अत्याचार ,कुछ तो बोलो विरासत की राजनीति के सरदार” इस ट्वीट पर एक और रिप्लाई आया जो राहुल को आईना दिखा गया. मुन्ना उपाध्याय नाम के एक यूजर ने राहुल के इस ट्वीट पर कहा कि “G-20 में बोल रहे हैं मोदी जी, आप कहां हैं ?”  जाहिर सी बात है किसी पर कोई आरोप लगाने से पहले उस मामले में पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए.

भारत और चीन के बीच क्या है विवाद:

आपको बता दें कि ये विवाद तब से शुरू हुआ है जब चीन ने भूटान के पास एक पहाड़ी इलाके में सड़क बनानी शुरू की. इस पहाड़ी इलाके को भारत डोकलाम, भूटान डोकला और चीन डोंगलांग कहता है. चीन इस इलाके में सड़कों का जाल बिछाना चाहता है. इसके पीछे चीन की मंशा विकास नही बल्कि सड़क बनाकर युद्ध के हालातों में अपने ठिकाने बनाने की कोशिश है. जब चीन सड़क बनाने की तैयारी कर रहा था तो भूटान ने भारत से चीनी सड़क की शिकायत की जिसके बाद भारत ने कड़ा एतराज जताया. भारत के एतराज पर चीन ने आरोप लगाया कि भारतीय सैनिकों ने घुसैपठ की है. अब चीन चाहता है कि भारत अपने सैनिकों को वापस बूला ले. चीन धमकी दे रहा है कि अगर सैनिक वापस नहीं बुलाए तो हालात युद्ध के करीब जाएंगे. इन सब के बाद को देखते हुए दोनों देशों में तनाव की स्थिति बनी हुई है. वैसे भी चीन की मंशा कुछ अच्छी नही है.

Source

उकसा रहा है चीन:

सीमा पर जिस तरह से तनाव है उसको देखते हुए आप आसानी से समझ सकते हैं कि चीन सिर्फ और सिर्फ भारत को उकसा रहा है जिससे भारत कोई न कोई गलती करे और उसको बड़ी कार्रवाई करने का मौका मिल जाये. चीन इसी मंशा के चलते सीमा पर अपने 96-B टैंकों को तैनात कर दिया है जिसका गलत असर भारत पर हो और भारत बौखला कर कोई कदम उठाये और उसका फायदा चीन उठाये. भारत को चुनौती  देते हुए चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि ‘अगर हालात नहीं सुधरे और ऐसे ही रहे तो चीन अपने नागरिकों को भारत नहीं जाने को कह सकता है. इतना ही नही चीनी कंपनियों को भारत में निवेश कम करने को भी कहा है.’