जो भरा नहीं है भावों से जिसमें बहती रसधार नहीं. वह हृदय नहीं है पत्थर है, जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं. अपने देश के प्रति सम्मान हर किसी के मन में होता है लेकिन हर किसी को इसे अभिव्यक्त करने का मौका नहीं मिल पाता लेकिन कई लोग देश के प्रति अपने कर्तव्य को पूरा करने के लिए कोई न कोई माध्यम ढूढ़ ही लेते हैं जिससे वो देश के प्रति अपनी भावना को अभिव्यक्त कर सकें. भावनाओं को अभिव्यक्त करने का सबसे अच्छा माध्यम है रुपहला पर्दा. इस रुपहले पर्दे पर देशभक्ति को लेकर कई फ़िल्में प्रदर्शित हो चुकी हैं और आज हम भी आपको ऐसी ही एक फिल्म के निर्देशक से मिलाने जा रहे हैं.

जी हाँ उनका नाम है लोम हर्ष, डायरेक्टर लोम हर्ष ने एक फिल्म बनायीं है जिसका नाम है “YEH HAI INDIA”  यह फिल्म अगले महीने 4 अगस्त को सिनेमा घरों में रिलीज़ हो जाएगी, आपको बता दें कि हमारे चैनल ने  जब लोम हर्ष से बात की और उनसे ये जानने कि कोशिश की, कि उन्होंने यह फिल्म क्यों बनायी? अगर बनायी भी तो इंडिया को लेकर ही क्यों? आपको बता दें कि इस डायरेक्टर ने जो जवाब दिया है वो सुनने लायक है कि आखिर इंडिया की असली पहचान क्या है जिसे लोग भूल चुके हैं.

डायरेक्टर लोम हर्ष का कहना था कि अगर आपको भारत की खासियत  के बारे में जानना है तो एक बार विदेश जाकर देखिये.  वहां जाकर आपको खुद पता चल जाएगा कि आपका भारत कितना महान है. वहां आपको पहुंचकर ऐसा एहसास होगा कि जैसे कि आप एक राज्य के जैसे डिवाइड कर दिए गए हैं न राष्ट्र द्वारा. इसलिए मुझे लगता है कि हम लोगों को UNITED BY NATION होने की ज़रूरत है.

लोम हर्ष का कहना था कि  हर देश की अपनी जन्म तिथि होती है यहाँ तक कि ऑस्ट्रेलिया की भी जन्मतिथि है पर हमारे भारत की कोई जन्मतिथि नहीं है जो कि हमारे लिए बहुत बड़ी बात है, सोचिये उस देश के बारे में क्या-क्या जानने को होगा जिसके बारे में यही नहीं पता कि यह देश आया कब. इसलिए हम लोगों को तो उस देश पर गर्व महसूस करना चाहिए जहाँ कई रहस्य छुपे हुए है और जितना जानों उतना कम है..

नीचे दिए गए वीडियो में आप खुद देखिये कि लोम हर्ष ने हमारे भारत को लेकर क्या क्या नए विचार रखे हैं जिसके बारे में शायद ही आपको पता होगा…

देखें वीडियो..