एक अख़बार में छपी खबर के मुताबिक, चीन का एक शहर है गुआंगझोउ, जहाँ के होटलों को एक ऐसा आदेश दिया गया है, जिसे सुनकर आप हैरान हो जाएंगे l हैरान भी इसलिए क्योंकि ये आदेश उस देश के नागरिकों के खिलाफ आया है, जिसे चीन इन दिनों अपना खास समझता है l हम बात कर रहे हैं पाकिस्तान की और उसके नागरिकों की l पूरी दुनिया में आतंकवाद बढ़ता जा रहा है और अब इससे कोई भी देश अछूता नही रहा l इन दिनों चीन और पाकिस्तान जिस तरीके से करीब आये हैं, और योजनाबद्ध तरीके से भारत के खिलाफ कदम उठा रहे हैं, उसके हिसाब से तो ये खबर पाकिस्तान को झटका दे सकती हैl सुनने में तो ये भी आया है की चीन जैसा कहता है पाकिस्तान वैसा करता है, लेकिन चीन ने पाकिस्तान को भी नही छोड़ा और अपने देश में ऐसा आदेश दे दिया जिससे पाकिस्तान, जो भारत के खिलाफ किसी भी कदम में चीन का साथ दे रहा है, उसकी आँखे खुल सकती है l

pka chin

दुनिया के सबसे ताकतवर देशों में शामिल होने की चाहत लिए चीन एशिया में भारत के खिलाफ मजबूत होने के लिए पाकिस्तान की काफी मदद करता आया है, जिसकी वजह से पाकिस्तान के हौसले बुलंद थे, लेकिन अब एक ऐसा आदेश चीन ने दे दिया है जिससे पाकिस्तान ही नही चीन में रह रहे मुस्लिम नागरिकों को काफी दिक्कत हो सकती है, और चीन में रहना मुश्किल हो सकता है l

चीन में मुस्लिम हैं मुश्किल में

चीन के गुआंगझोउ शहर में पुलिस ने होटल संचालकों से कहा है कि पाकिस्तानी मुस्लिमों को होटल में जगह ना दें। आपको ये भी बता दें सिर्फ पाकिस्तान ही नहीं कुछ और भी मुस्लिम देश हैं जिन पर ये पाबंदी लगाई गयी है l हांगकांग के साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट अखबार की खबर के अनुसार शहर के कई हिस्सों में होटलों ने इस बात की पुष्टि की है, कि स्थानीय पुलिस ने उनसे इस सप्ताह से मुस्लिम नागरिकों को सेवाएं नहीं देने को कहा है।

foto 1

दरअसल चीन में 11वें पान-पर्ल रिवर डेल्टा रीजनल कॉपरेशन एंड डवलपमेंट फोरम होना है, और इसके मद्देनजर चीन पूरी तरीके से सुरक्षा बरत रहा है l इन आदेशों के बाद संभव भी है कि जिन देशों के नागरिकों को सेवा देने से रोका गया है, उन देशों से चीन के रिश्तों में तल्खी बढ़े l

सिर्फ पाकिस्तान नहीं इन 5 देशों के नागरिकों पर लगी है पाबंदी

ऐसा नही है कि चीन ने सिर्फ पाकिस्तान के मुस्लिमों पर ही पाबंदी लगायी हो, चीन ने पाकिस्तानी मुस्लिमों के साथ-साथ 5 और देशों के नागरिकों पर पाबंदी लगाई है l सोचने की बात ये है कि ये सभी मुस्लिम देश हैं l विशेषज्ञ कहते हैं कि चीन ने हर उस देश के नागरिकों पर पाबंदी लगाई है, जहाँ से आतंकवाद की घटनाओं को बढ़ावा मिलता है l पाकिस्तान के साथ-साथ अफगानिस्तान, तुर्की, सीरिया और इराक जैसे देशों के नागरिकों पर चीन में पाबंदी लगी है l

foto2

इस पाबंदी से तो साफ है, जो चीन भारत के खिलाफ पाकिस्तान के साथ खड़ा रहता है, उसने भी माना कि आतंकवाद पर काबू पाना है तो पाकिस्तान जैसे देशों पर लगाम लगाना जरुरी है l चीन में ऐसा पहली बार नही है कि पाकिस्तान के नागरिक या मुस्लिमों पर पहली बार पाबंदी लगी हो, ऐसे बहुत से मौके आये, जब चीन ने मुस्लिमों पर कठोर कानून के साथ उन्हें रोका है l

जब चीन ने रोजा रखने पर पाबंदी लगा थी

चीन अपने देश की सुरक्षा के हिसाब से मुसलमानों पर अपने कानून लगाता रहता है l अगर आप पिछले सालों का हिसाब देखेंगे तो पता चलेगा कि चीन में सभी सरकारी कर्मचारियों, अधिकारियो, स्टूडेंट्स और बच्चों के लिए रोजा न रखने का आदेश दिया गया था l दो साल पहले भी शिनजियांग में हुए सीरियल ब्लास्ट के बाद पीपुल्स आर्मी के निशाने पर देश के मुसलमान आ गये थे, क्यूंकि अधिकतर लोग उस समय आतंकी गतिविधियों में लिप्त पाए गए थे।

foto3

पिछले साल भी चीन ने रोजा रखने और नमाज पढने पर पाबन्दी लगाईं थी। वही चीन की आर्मी ने एक बम ब्लास्ट की घटना के बाद प्रान्त के सैकड़ो मौलवियों को पकड़ कर उनसे डांस भी करवाया था। चीन में आतंकी घटनाएं बढ़ने के बाद वहां की सरकार ने कट्टरपंथी इस्लामिक संगठनो में नकेल डालनी शुरू की थी। चीन में लगी पाकिस्तानियों पर पाबंदियों के बाद पाकिस्तान और चीन के रिश्तों में क्या मोड़ आएगा… ये तो वक्त ही बतायेगा !