देश में कई दिनों से चली उठा-पटक के बीच अंततः गुरुवार 20 जुलाई को भारी मतों से जीता कर रामनाथ कोविंद को देश का अगला राष्ट्रपति चुना जा चुका है. हालाँकि एनडीए ने जिस वक़्त से राष्ट्रपति पद के लिए रामनाथ कोविंद का नाम सुझाया था वो तभी से सुर्ख़ियों में आ गए थे. लेकिन अब उनकी भारी मतों से जीत के बाद ये देखना दिलचस्प होगा कि अब रामनाथ कोविंद अपनी इस ज़िम्मेदार को कितने बखूबी निभाते हैं. गुरुवार को राष्ट्रपति कोविंद की जीत के बाद से ही उनको बधाई देने वालों का ताँता-ताँता लगा रहा. ऐसे में अब राष्ट्रपति कोविंद की जीत की ख़बर मिलते ही उनके शिक्षक ने कुछ ऐसा कह दिया है जो आपको भी ज़रूर जानना चाहिए.

source

क्या कहा है राष्ट्रपति कोविंद के शिक्षक ने? 

ये कहना शायद ही गलत हो कि राष्ट्रपति कोविंद से इस वक़्त ना सिर्फ बीजेपी बल्कि पूरे देश को काफी उम्मीदें हैं. हालाँकि वो इन उम्मीदों पर कितने खरे उतरते हैं ये तो आने वाला वक़्त ही बताएगा. बता दें नया ओहदा है तो काम के साथ ज़िम्मेदारियाँ भी ज़रूर ही आएँगी.

source

ऐसे में शायद इन्ही बातों को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रपति कोविंद को उनके कानपुर स्थित डीसी लॉ कॉलेज के अध्यापक सुमन निगम ने एक सुझाव दिया है. नवनिर्वाचित राष्ट्रपति कोविंद के अध्यापक सुमन निगम चाहते हैं कि उनके शिष्य जो अब देश के राष्ट्रपति बन चुके हैं वो सबसे पहले गौ रक्षा के नाम पर होने वाली हत्याओं पर रोक लगाएं.

source

सरकार को ऐसे सुझाव दिए जायें जो देशहित में हों  

रामनाथ कोविंद के राष्ट्रपति बनने के साथ ही उनके अध्यापक और उनसे जुड़े लोगों को अब कई ऐसी उम्मीदें जाग उठी हैं जो कि वो चाहते हैं कि अब पूरी हो जानी चाहिए. गौ-रक्षा के नाम पर होने वाली हत्याओं पर रोक के साथ ही राष्ट्रपति कोविंद के अध्यापक चाहते हैं कि अब कोविंद देश के राष्ट्रपति बनने के बाद अब सरकार को वैसे सुझाव दें जिससे सबका भला हो.

source

जीएसटी तो लेकर दिया बड़ा बयान 

इन सब के बाद सुमन निगम ने आगे कहा कि, “अभी हाल ही में देश में कई ऐसे फैसले लिए हैं जो देशहित के खिलाफ रहे हैं जैसे कि GST. सुमन निगम बताते हैं कि GST जैसा फैसला लाख अच्छा क्यों ना हो लेकिन एक सब्जी बेचने वाले की नज़र से केंद्र सरकार के इस फैसले में काफी चूक हुई है, लेकिन अब जब कोविंद एक ऐसी जगह पर पहुँच गए हैं तो उन्हें सरकार को अच्छे और कुछ ऐसे सुझाव देने चाहिए जिससे सबका भला हो. सुमन निगम विश्वास जताते हैं कि रामनाथ कोविंद जाती, धर्म, जैसी चीज़ों से ऊपर उठकर ऐसे फैलसे लेंगें जिससे देश का हर आदमी खुश रहेगा.

source

सरकार की बिगड़ी छवि को सुधर सकते हैं कोविंद 

राष्ट्रपति कोविंद के बारे में बात करते हुए उनके अध्यापक सुमन निगम ने कई ऐसी बातें बताई है जो शायद ही कोई जानता हो. सुमन निगम कहते हैं कि कॉलेज ख़त्म होने के बाद से ही उनका रामनाथ कोविंद से कोई संपर्क नहीं हुआ हाँ लेकिन जब रामनाथ कोविंद बिहार के राज्यपाल बने तो उन्हें ध्यान आया की वो उन्हीं के छात्र थे.

 

source

वे कहते हैं, “भारतीय जनता पार्टी में कुछ ग़लत लोग आ गए हैं, जिनकी वजह से पार्टी ने कुछ गलत फैसले भी लिए हैं जिससे सरकार की छवि पर नकारात्मक असर पड़ा है जो अब राष्ट्रपति कोविंद को सही करना पड़ेगा.