पीएम मोदी के कार्यकाल में भारत ने अब तक कई नए बदलाव देखे हैं. हर बदलाव के पीछे पीएम मोदी की यही सोच थी कि भारत आगे बढ़े दुनिया में भारत की पहचान एक शक्तिशाली मुल्क के रूप में हो. उन्होंने कार्यकाल के शुरुआत में ही ये साफ़ कर दिया था कि वो देश को आगे ले जाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं, फिर चाहे लोग उनकी आलोचना ही क्यों न करें. उनकी कई बार आलोचनाएं हुई भी लेकिन धीरे-धीरे सबकी समझ में आ गया कि उनके द्वारा उठाये गए कदम सही थे, और देश हित के लिए ही उठाए गए थे.

source

पीएम मोदी की दूरदर्शी नीतियों से अब भारत को होने लगा है फायदा

पीएम मोदी की दूरदर्शी नीतियों से अब भारत को फायदा होना शुरू हो गया है. आज भारत हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है. दुनिया में आज भारत को एक शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में जाना जाता है. पीएम मोदी के कार्यकाल में अब स्टॉक एक्सचेंज से भी ऐसी खबर आई है जिसे सुनकर हर किसी को ख़ुशी होगी.

source

निफ्टी ने रचा इतिहास

कारोबारी हफ्ते के दूसरे दिन ही भारत के नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के इंडेक्स निफ्टी ने ऐसा रिकोर्ड बना दिया जिसकी उम्मीद कई समय से की जा रही थी. वैसे ये सोचा जा रहा था कि ये उछाल आएगा लेकिन किसी ने ये नहीं सोचा था कि हफ्ते के दूसरे दिन ही ये कारनामा हो जाएगा. निफ्टी ने मंगलवार को इतिहास रचते हुए 10,000 का स्तर छू लिया. ये आंकड़ा छूते ही निफ्टी ने साल 2017 के ‘दुनिया के टॉप परफॉर्मर’ में अपना नाम दर्ज करवा लिया. इस साल में निफ्टी ने अब तक लगभग 22% की तेजी हासिल की है.

source

IANS न्यूज एजेंसी के हवाले से पता चला है कि, सुबह के 09.37 बजे 65.79 अंकों की बढ़त के साथ 32,311.66 पर और निफ्टी भी लगभग इसी वक्त 20.10 अंकों की मजबूती के साथ 9,986.50 पर कारोबार करते देखे गए. BSE का संवेदी सूचकांक जो कि 30 शेयरों पर आधारित है, सुबह 104.84 अंकों की मजबूती के साथ 32350.71 पर और NSE 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 44.15 अंकों की उछाल के साथ 10,010.55 पर खुला.

source

7.5 प्रतिशत बनी रहेगी वृद्धि दर 

वहीं नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने कहा कि, ‘मेरा मानना है कि वर्तमान वित्त वर्ष 2017-18 में आर्थिक वृद्धि दर कम-से-कम 7.5 प्रतिशत तक रहेगी. साल की अंतिम तिमाही की ओर बढ़ने के साथ हम आठ प्रतिशत वृद्धि दर हासिल करने लग जाएंगे, लेकिन औसत वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत बनी रहेगी.’

source

तिमाही नतीजे हैं उम्मीद से बेहतर 

गौरतलब है कि तिमाही नतीजे उम्मीद से बेहतर रहे हैं जिसके चलते बैंकिंग स्टॉक्स में सोमवार को जोरदार तेजी देखी गई. यही वजह रही कि मंगलवार को निफ्टी 10,000 अंक के करीब पहुंच गया. वहीँ दूसरी ओर सेंसेक्स भी नए रिकोर्ड स्तर 32,246 अंक पर पहुँच गया.

source

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष ने कहा भारत, चीन को भी पीछे छोड़ देगा 

भारत के लिए सोमवार को आर्थिक वृद्धि के मोर्चे पर ख़ुशी की खबर आई. IMF यानी अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष ने विश्व आर्थिक परिदृश्य में चल रहे वित्त वर्ष के लिए भारत की वृद्धि दर को 7.2 प्रतिशत कायम रखा. IMF ने ये भी कहा कि भारत की वृद्धि दर आगे भी ऐसी ही रहेगी और आर्थिक वृद्धि के मामले में वो जल्द ही चीन को भी पीछे छोड़ देगा.KOL