पीएम मोदी ने सत्ता में आते ही भारत की तस्वीर बदल दी है, आज भारत को दुनिया भर में पहचान मिली है और भारत एक शक्तिशाली देश के रूप में सामने आया है.  एक जमाना था जब भारत के लोगों को पासपोर्ट बनवाने के लिए बहुत  मेहनत करनी पड़ती थी और कई दिनों तक पासपोर्ट बनने का इंतज़ार करना होता था.

source

मोदी सरकार का पासपोर्ट को लेकर नया नियम…

मोदी सरकार ने अपनी अपनी नई नई योजनाओं को लागू करके जनता को कई तोहफे दिए है l इन योजनाओं में जनधन योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, किसान बीमा योजना आदि शामिल है. इस बार सरकार ने पासपोर्ट को लेकर नियमों में बदलाव किया है. इस बदलाव के बाद पासपोर्ट बनवाने में कोई दिक्कत नहीं होगी. मोदी सरकार ने पासपोर्ट को बनवाने के लिए अब बर्थ सर्टिफिकेट कि अनिवार्यता को ख़त्म कर दिया है. मोदी सरकार के इस नियम से जनता को पासपोर्ट बनवाने अब ज्यादा मुसीबतों का सामना नहीं करना पड़ेगा.

 

source

 

पासपोर्ट के लिए अब आपको नहीं देना होगा बर्थ सर्टिफिकेट

भारत सरकार के विदेश मंत्रालय द्वारा लागू इस नियम में 26 जनवरी 1989 के बाद जन्मे लोगों को पासपोर्ट बनवाने के लिए बर्थ सर्टिफिकेट जमा करवाना जरूरी होता था, लेकिन मोदी सरकार के इस फैसले के बाद अब इसकी कोई आवश्यकता नहीं पड़ेगी. मोदी सरकार के इस नए नियम के अनुसार आपको पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र, एलआईसी पॉलसी कि कॉपी डेट ऑफ बर्थ के लिए मान्य मानी जायेंगी l आप इस सर्टिफिकेट को पासपोर्ट बनवाने के दौरान जमा कर सकते है.

souce

 

इसी के साथ अब आपको पासपोर्ट बनवाने के लिए मैरिज सर्टिफिकेट और एनेक्जर की भी कोई जरूरत नहीं पड़ेगी. जिन लोगों का तलाक हो चुका है अब उन्हें भी स्पाउस नेम भी नहीं लिखना होगा. डायवोर्स डिग्री की भी कोई अनिवार्यता नहीं है. इस नियम से अनाथ बच्चों को बर्थ सर्टिफिकेट, मैट्रिक सर्टिफिकेट, और कोर्ट के आर्डर की भी कोई जरूरत नहीं होगी. इसके लिए केवल चाइल्ड केयर होम के लेटर पैड पर डेट ऑफ बर्थ लिखवाकर प्रूफ के रूप में जमा करवाना पड़ेगा.

 

source

अब पासपोर्ट के लिए साधु संन्यासी आवेदन करते समय माता पिता के नाम के स्थान पर अपने धार्मिक गुरु का नाम लिखवा सकते है. पासपोर्ट जारी करवाने के लिए उन्हें अपना वोटर कार्ड, पैन कार्ड, आधार कार्ड दिखाना होगा जिसमे उनके गुरु का नाम लिखा हो. इसके साथ ही सरकार ने लिव इन में रहने वाले या बगैर शादी किये होने वाले बच्चों के लिए भी पासपोर्ट बनाने के नियमों को आसान कर दिया है. पासपोर्ट के नियमों में सरकार ने काफी सुधार करते हुई नियमों को बहुत सरल कर दिया है.

 

source

अब तक आपको पासपोर्ट का आवेदन करने के लिए 10 से अधिक खाने भरने पड़ते थे लेकिन सरकार ने इसे भी घटा कर कम कर दिया है. इसी के साथ कई तरह की सूचनाओं को स्वघोषित कर दिया है. सरकार ने कई तरह के प्रमाण पत्रों को जन्म दिन प्रमाणपत्र के तौर पर लागू कर दिया है. विदेश राज्यमंत्री मंत्री वीके सिंह ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि उन नौकरशाही के लिए यह प्रावधान किया गया है जो अपने सम्बंधित विभाग से नो आब्जेकशन सर्टिफिकेट हासिल नहीं कर पा रहे हैं.