जिस के बारे में किसी ने सोचा भी नहीं था वो ही बना राष्ट्रपति

पिछले महीनों राष्ट्रपति चुनाव को लेकर देश के मीडिया में कई बातें हुई, कई कयास लगाए गए. बीजेपी में कई लोग ऐसे थे जो राष्ट्रपति पद के दावेदार थे लेकिन अंत में बीजेपी ने रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का दावेदार घोषित कर दिया. एक समय ऐसा भी था कि जब रामनाथ कोविंद के बारे में कोई दूर-दूर तक सोच भी नहीं रहा था लेकिन एक समय ऐसा भी आया जब सबको ज्ञात हो गया कि रामनाथ कोविंद ही देश के अगले राष्ट्रपति बनेंगे.

source

हर किसी की नज़र टिकी थी नतीजों पर 

17 जुलाई को सोमवार सुबह से ही संसद भवन में 31 राज्यों के विधानसभा परिसरों में बनाए गए मतदान केंद्रों में 10 बजे से वोटिंग शुरू कर दी गई थी. इस राष्ट्रपति चुनाव पर पूरे देश की नज़रें टिकी हुई थी, क्योंकि हर कोई ये जानने का इच्छुक था कि आखिर भारत का अगला राष्ट्रपति बनेगा कौन? भारत के अगले राष्ट्रपति पद के लिए राजग के रामनाथ कोविंद और यूपीए की उम्मीदवार मीरा कुमार के बीच सीधा मुकाबला था, जिनमें आखिरकार जीत रामनाथ कोविंद की ही हुई. उनको देश का अगला राष्ट्रपति घोषित किया गया.

source

रामनाथ कोविंद ने देश के 14वें राष्‍ट्रपति के तौर शपथ ले ली है. शपथ ग्रहण के बाद पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और नव निर्वाचित राष्ट्रपति ने अपनी कुर्सियों की अदला-बदली की. अब रामनाथ कोविंद भारत के प्रथम नागरिक होंगे. मंगलवार को दोपहर 12:15 बजे शपथ ग्रहण समारोह संसद भवन के केंद्रीय कक्ष में हुआ. भारत के मुख्य न्यायाधीश ने नए राष्ट्रपति को शपथ दिलाई.

source

जहाँ कुछ लोग राष्ट्रपति चुनाव को लेकर कुछ महीनों पहले कयास लगा रहे थे कि कौन देश का राष्ट्रपति बनेगा. उसी दौरन 15 जून को ललित मिश्रा नाम के एक ट्विटर यूजर ने कह दिया था कि रामनाथ कोविंद भी राष्ट्रपति पद की रेस में शामिल हैं, जबकि बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने उनके नाम की घोषणा 19 जून की शाम को की. इस यूजर द्वारा की गई भविष्यवाणी आगे जाकर सच भी साबित हो गई और अंत में राष्ट्रपति पद पर भी रामनाथ कोविंद को ही चुना गया.

source

जब एक ट्विटर यूजर ने की भविष्यवाणी

इस ट्विटर यूजर ने कहा था कि, ‘मुझे लगता है कि बिहार के गवर्नर रामनाथ कोविंद भी छुपे रुस्तम हैं.’ आखिर में इस यूजर की बात ही सच हुई और रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति बन गए जबकि एक समय ऐसा भी था जब कोई सोच भी नहीं सकता था कि रामनाथ कोविंद देश के अगले राष्ट्रपति बनेंगे.

source

दरअसल राष्ट्रपति चुनावों को लेकर एक सर्वे किया जा रहा था जिसमें संभावित राष्ट्रपति का नाम पूछा जा रहा था. उसी में ललित ने भी बिहार के गवर्नर को संभावित उम्मीदवार बताया था.

जानी मानी पत्रकार बरखा दत्त ने भी ट्वीट करके ललित के सटीक अनुमान को देखकर लिखा कि, एक मात्र आदमी जिसने सही अंदाजा लगाया.

ललित के ट्वीट पर कई ट्विटर यूजर ने चटपटे सवाल पूछे, तो कई ने उनको प्रभू कह कर पुकारा. एक ट्विटर यूजर ने उनसे कहा कि मेरी कुंडली देख लीजिये कई दिन से मीटर स्लो चल रहा है.

ख़ैर अब रामनाथ कोविंद देश के 14वें राष्ट्रपति बन चुके हैं. रामनाथ कोविंद को चीफ़ जस्टिस टी एस खेहर ने संसद भवन के सेन्ट्रल हॉल में मौजूद देश की जानी-मानी हस्तियों के सामने शपथ ग्रहण करवाया. स्वयं भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी सेंट्रल हाल तक साथ में आये थे. नव निर्वाचित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के शपथ ग्रहण समारोह में प्रणब मुखर्जी के साथ देश के उपराष्ट्रपति, मुख्य न्यायाधीश और लोकसभा अध्यक्ष खास तौर पर मौजूद थे.