डोकलाम को लेकर भारत और चीन के बीच तनाव जारी है. जहां चीन धमकी देते हुए डोकलाम में सेना के जवानों की संख्या बढ़ाने की बात कह रहा है वहीं भारत की तरफ से करारा जवाब दिया जा रहा है. विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने साफ़ कर दिया है कि पहले चीन अपनी सेना हटाये तभी भारतीय सेना डोकलाम से हटेगी. जहां भारतीय मीडिया में इस मामले को लेकर काफी चर्चा है, वहीं एक प्रतिष्ठितअख़बार ने कुछ ऐसी खबर छाप दी जिसके बाद सनसनी मच गयी. इस अख़बार की माने तो अगर चीन दोषी पाया गया तो शी जिनपिंग और उनके सहयोगियों को जेल हो सकती है.

Source

दरअसल मामला मीडिया का है, हां वही मीडिया जिसकी एक खबर से ही पूरे देश की राजनीति बदल जाती है. वैसे किसी से कोई भी गलती हो तो मीडिया तिल का ताड़ बना देती है लेकिन जरा सोचिए जिस मीडिया को भारत में लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ कहा जाता हो और उससे गलती हो जाए तो क्या हो ? कुछ भी सोचने पहले ये भी जान लीजिये कि ये गलती कोई मामूली नही गंभीर है, क्योंकि मामला भारत-चीन विवाद से जुड़ा हुआ है.

Source

अब आपको पूरा मामला बताते हैं कि कैसे चीन के राष्ट्रपति और उनके सहयोगियों को जेल हो सकती है. दरअसल अगर उन्हें जेल होगी तो इसमें शिप्रापथ थाना प्रभारी मुकेश चौधरी का बड़ा हाथ होगा. अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर जयपुर के अंतर्गत आने वाला थाना शिप्रापथ से चीन का क्या कनेक्शन है और चीन के राष्ट्रपति को जेल कैसे हो सकती है.

Source

दरअसल ऐसा नही है कि चीन के राष्ट्रपति को सच में जेल होगी या फिर उनपर भारत के किसी थाने से कोई कार्रवाई होगी लेकिन प्रतिष्ठित अख़बार दैनिक भास्कर ने भारत और चीन मुद्दे पर पेज नंबर 8 पर  जो लिखा है उसे पढ़कर यही लगता है कि चीन के ऊपर सेना नही बल्कि भारत के राज्यों की पुलिस ही काफी है. दैनिक भास्कर ने लिखा है कि “भारत चीन के साथ चल रहे विवाद पर कूटनीतिक स्तर पर हल चाहता है लेकिन चीन ने बातचीत के लिए भारत के सामने शर्त रख दी है कि पहले वो अपनी सेना हटाये.” यहां तक तो इस प्रतिष्ठित अख़बार ने ठीक लिखा है लेकिन इसके बाद जो लिखा वो पढ़कर या तो आप हैरान रह जायेंगे या फिर हो सकता है कि आपकी हंसी निकल जाए.

दैनिक भास्कर ने इस खबर में आगे लिखा है कि “….भारत ने साफ कह दिया है कि जब तक चीन डोकलाम से बाहर नही निकलता, तब तक हम भी अपने कदम पीछे नही खीचेंगे. शिप्रापथ थाना प्रभारी मुकेश चौधरी ने बताया कि अभी मामले की जाँच की जा रही है. लापरवाही सामने आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.” अब ये तो जाँच का विषय है कि मुकेश चौधरी के थाने की पहुँच चीन तक है या नही लेकिन अख़बार ने जो किया उससे उसका खूब मजाक उड़ रहा है. फ़िलहाल हम आपको बता दें कि ये महज एक भूलवश हुआ है.

न्यूज़24 एंकर मानक गुप्ता का ट्वीट

अब तक तो आप समझ ही गये होंगे कि मामला क्या है ? इस अख़बार ने दो खबरों को एक बना दिया है और पूरी खबर पढ़ने के बाद ऐसा लग रहा है कि डोकलम में चीन की कार्रवाई पर राजस्थान पुलिस कार्रवाई करेगी और अगर जिम्मेदार लोग दोषी पाए गये तो उन्हें सजा होगी. दरअसल प्रिंट मीडिया में गलतियाँ बहुत कम ही देखने को मिलती हैं लेकिन इस गंभीर मुद्दे पर इस तरह की गलती होने पर लोगों ने इसे सोशल मीडिया तक पहुंचा दिया और वायरल कर दिया. आपको बता दें कि इस खबर का स्क्रीनशॉट न्यूज़24 के एंकर मानक गुप्ता ने अपने ट्विटर अकाउंट से अपलोड किया जिसे लोगों ने खूब शेयर किया.