काफी दिनों से पार्टी में चल रही गतिविधियों के बाद अटकले लगायी जा रही थी कि हो सकता है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अब पार्टी पद से इस्तीफ़ा दे दें. ऐसे में आख़िरकार बुधवार को सभी अटकलों को सही साबित करते हुए नीतिश कुमार ने बिहार के मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है. सिर्फ यही नहीं इधर नीतिश कुमार ने इस्तीफ़ा दिया और उधर राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने उनका इस्तीफा मंजूर भी कर लिया.  इस्तीफा देने के बाद जब नीतीश कुमार ने मीडिया से बातचीत की तो उन्होंने बताया कि, ” मुझसे जितना संभव हो सका मैंने उतने दिन मैंने सरकार चलाई, लेकिन अब जो हालात हैं उसमे मेरे लिए काम कर पाना संभव नहीं रह गया है और इसलिए मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया है.” nitish kumar

source

हम यहाँ आपको जानकारी के लिए बता दें कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को जदयू विधायक दल की बैठक बुलाई थीं, जिसमें ये तय हुआ था कि लालू के बेटे तेजस्वी को लेकर फैसला किया जायेगा. हालाँकि ऐसा कुछ तो नहीं हुआ बल्कि नीतिश कुमार का इस्तीफ़ा ज़रूर आगया. यूँ इस तरह से नीतीश कुमार के इस्तीफा देने के बाद अब एक बार फिर सभी की निगाहें बिहार की राजनिती पर टिक गई हैं. बुधवार को आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव और उनके विधायकों के बीच हुई बैठक में ये  बात साफ़ कर दी गयी थी कि उन्होंने तेजस्वी यादव का इस्तीफा नहीं मांगा है.

source

राष्ट्रिय जनता दल के सुप्रीमो लालू यादव अपने बेटे तेजस्वी और पत्नी राबड़ी देवी के साथ तेजस्वी के इस्तीफ़े के मुद्दे पर बात करते हुए मीडिया से साफ़ कहा दिया था कि उन्हें तेजस्वी की इस्तीफा किसी भी हाल में मंजूर नहीं है. हालाँकि इस बात पर भी लालू यादव ने अपने सुपुत्र को बचाते हुए सारा दोष मीडिया पर ही ठहराया था.  ऐसे में लालू ने आगे कहा था कि, “जब नीतीश कुमार ने उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से इस्तीफा ही नहीं मांगा है तो वो आखिर क्यों ही अपना पद छोड़ें? आपको बता दें कि इन दिनों लालू यादव के लाल  तेजस्वी यादव पर आय से अधिक संपत्ति रखने का आरोप चल रहा है.

source

एक के बाद एक हो रहे खुलासों के बाद ये कहना गलत नहीं होगा कि राजद सुप्रीमो लालू यादव और उनके परिवार पर इन दिनों उन्ही के काले कारनामों के चलते मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है. जहाँ एक तरफ सीबीआई जल्द ही आय से अधिक संपत्ति के मामले में लालू यादव के खिलाफ मामला दर्ज करने वाली हैं तो वहीं दूसरी तरफ अब उनके बेटे तेजस्‍वी, पत्‍नी राबड़ी और बेटी मीसा भारती के खिलाफ भी आय से अधिक संपत्ति का केस दर्ज हो गया है.

source

सिर्फ यही नहीं, ये बात तो शायद सभी जानते है कि लालू यादव बिहार के मुख्‍यमंत्री रहने के साथ ही साथ  केंद्रीय रेलवे मंत्री भी रह चुके हैं, जिस दौरान उनपर चारा घोटाले का आरोप लगा था जो भी आयेदिन आग में घी डालने का काम करता रहता है.

source

बता दें कि नीतीश कुमार के इस्तीफे पर प्रधानमंत्री मोदी ने भी ट्वीट किया है कि, “भ्रष्टाचार के ख़िलाफ लड़ाई में जुड़ने के लिए नीतीश कुमार जी को बहुत-बहुत बधाई. सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी का स्वागत और समर्थन कर रहे हैं.”
ऐसे में अब इस बात पर अटकले लगायी जा रही हैं कि हो सकता है इस्तीफ़ा देने के बाद नीतिश कुमार बीजेपी का दामन पकड़ लें.