अनुपम खेर बॉलीवुड के एक ऐसे नायक हैं जो ना सिर्फ बेबाकी से हर मुद्दे पर अपनी राय रखते हैं बल्कि कई बार इसी वजह के चलते लोगों के निशाने पर भी आ जाते हैं. हालाँकि उनकी यही बेबाकी उनकी खासियत रही है. देश में कोई भी मुद्दा अगर आंच पर होता है तो अनुपम खेर उसपर एक जागरूक नागरिक के नाते अपनी राय ज़रूर ही रखते हैं. अनुपम खेर की यही खासियत एक ब्रिटिश पत्रकार पर उस वक़्त भारी पड़ गई, जब उसने भारत की बुनियादी समस्‍याओं पर अनुपम खेर के सामने चुटकी लेनी चाही.

source

क्या था मामला 

ब्रिटिश पत्रकार ने भारत पर ऊँगली उठाते हुए एक मज़ाकिया सवाल कर दिया था, बस फिर क्या था अनुपम खेर ने उनको उन्ही के भाषा में ऐसा सवाल दिया जिसे सुनकर आपको भी अक्षय कुमार की फिल्म नमस्ते लन्दन का वो सीन याद आ जायेगा जहाँ भारत को संपेरों का और पिछड़ा देश बताने पर अक्षय ने एक फिरंगी को जमकर लताड़ लगायी थी.

source

अक्षय ने भी फिल्म के इस ऐतिहासिक सीन में उस फिरंगी को लताड़ लगाते हुए उन्हें असली भारत का परिचय भी दिया था. ऐसा ही कुछ उस वक़्त भी हुआ जब ब्रिटिश पत्रकार ने अनुपम खेर, अक्षय कुमार, और भूमि पडनेकर के सामने भारत का मजाक उड़ाने की कोशिश की.

फिर क्‍या था, अनुपम ने उसे जो जवाब दिया, सुनकर आपको नमस्‍ते लंदन मूवी का अक्षय कुमार वाला वो सीन याद आएगा, जिसमें उन्‍होंने एक अंग्रेज की ऐसी धुलाई की थी जिसके बाद दुनिया के किसी भी कोने में बैठे भारतीय का सीना गर्व से चौड़ा हो गया था. यकीनन अक्षय कुमार का वो सीन ऐतिहासिक सीन था.

source

 क्या कहा था ब्रिटिश पत्रकार ने

दरअसल मौका था फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ के एक इंटरव्यू का. अनुपम खेर ‘टॉयलट एक प्रेम कथा’ मूवी की कास्‍ट मतलब अक्षय और भूमि के साथ एक ब्रिटिश चैनल को इंटरव्‍यू दे रहे थे. बता दें कि आने वाले स्‍वतंत्रता दिवस पर रिलीज होने जा रही यह फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ देश में टॉयलेट की समस्‍या को ही खास अंदाज में दिखा रही है.

ब्रिटिश एंकर कृष्णनन गुरु मूर्थी

ऐसे में जैसे ही इंटरव्यू शुरू होता है तो ब्रिटिश पत्रकार पहले तो भारत का मजाक उड़ाते हुए बोलते हैं कि, “ये फिल्म भारत देश में खुले में शौच की दुर्दशा को दर्शाती एक फिल्म है ना?” जिसपर वहां मौजूद तीनो कलाकार एक सुर में जवाब ‘हाँ’ में देते हैं.

source

जिसके बाद पत्रकार का दूसरा सवाल आता है कि, “भारत की आजादी के 70 साल बाद भी खुले में और रेल की पटरियों पर शौच करने की समस्‍या पर आपका क्‍या कहना है?” ये सवाल अनुपम खेर से था जिसका जवाब देते हुए अनुपम खेर मानो ‘नमस्‍ते लंदन’ के अक्षय कुमार बन जाते हैं और एंकर को उस अंग्रेज की तरह ही जवाब देते हुए कहते हैं कि…

source

अनुपम खेर के जवाब ने बोलती बंद कर दी 

सवाल सुनकर तमतमाए अनुपम खेर ने कहा कि, “माफ़ करिएगा गुरूजी (एंकर का नाम कृष्णनन गुरु मूर्थी है) इस मुद्दे पर मेरी सोच आप से जरा अलग है. हम भारतियों को आजादी मिले सिर्फ 70 साल ही हुए हैं. याद दिला दें तो इससे पहले 200 साल तक अंग्रेजों ने हम पर हुकूमत जमाई हुई थी.”

source

कायदे से देखा और समझा जाये तो उन अंग्रेजों को हमारे यहां के लोगों को स्‍वच्छता के बारे में बताना और सिखाना चाहिए था. लेकिन नहीं,  अंगेजों ने वहां अपनी सुविधा के लिए पहले रेल की पटरियां बनवायीं. दरसअल वो भारतीयों को शिक्षित करना ही नहीं चाहते थे. ऐसा इसलिए  ताकि वो हमेशा ही ये कह सकें कि ये इंडियंस ऐसे ही खुले में शौच करते हैं. यह भी हमारे लिए एक समस्‍या है.”

source

अनुपम खेर का यह शानदार और दमदार जवाब सुनना ही था कि मानो उस ब्रिटिश एंकर की हालत ख़राब हो गई और फिर उसने पूरे शो के दौरान इस मामले में कोई सवाल नहीं किया.

source

बता दें कि अनुपम खेर की बातें कई बार लोगों को सिर्फ इसलिए विवादित नजर आती हैं, क्‍योंकि भारत और राष्‍ट्रवाद से जुड़े मामलों पर उनका हर जवाब गोलमोल नहीं बल्‍कि स्पष्ट और सटीक होता है.