सेना अपने रूल्स के लिए बड़ी सख्त होती है इसीलिए हर सैनिक से उम्मीद की जाती है कि वो रूल्स को सही तरीके से फ़ॉलो करे लेकिन कई बार कुछ सिपाही ऐसा काम कर देते हैं कि सेना को उनके खिलाफ एक्शन लेना पड़ता है. ऐसा ही एक्शन लिया गया सेना के एक सिपाही चंदू बाबूलाल चव्हाण के खिलाफ.

source

ख़बरों की मानें तो चंदू चव्हाण अपने अधिकारियों से नाराज़ होकर सीमा पार पाकिस्तान चले गए थे. उन्हें पाकिस्तान में गिरफ्तार कर लिया गया था. पाकिस्तान द्वारा इसी साल जनवरी में चंदू को अटारी-वाघा बॉर्डर पर भारत के हवाले कर दिया गया था.

source

आपको बता दें कि चंदू को लेकर जो रिपोर्ट्स सामने आई हैं उनके मुताबिक़ चंदू को दोषी पाया गया है. उनको दो महीनों की सजा भी सुनाई गई है और साथ ही दो साल तक उनकी पेंशन को भी रोक दिया गया है. हालांकि सजा को लेकर आर्मी कह रही है कि इसकी मंजूरी उचित अधिकारियों से मिलना अभी बाकी है.

source

बता दें कि चंदू बाबूलाल चव्हाण 29 सितंबर 2016 को भारत की कृष्णा घाटी सेक्टर से सीमा को पार करके पाक इलाके में चले गए थे. इस घटना के बाद भारत ने पाकिस्तान से डीजीएमओ स्तर की वार्ता की और 7 अक्टूबर 2016 को पाकिस्तान ने मान लिया कि चंदू पाकिस्तान में हैं. इसके बाद जनवरी में पाकिस्तान ने चंदू को भारत के हवाले कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here