बीते 3 अगस्त को जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल और आतंकियों को आर्थिक मदद पहुँचाने के आरोप में अलगाववादी नेता शब्बीर शाह को दिल्ली की एक अदालत में पेश होने का फरमान दिया गया था. कोर्ट में पेशी के दौरान पक्ष-विपक्ष के वाद-विवाद के बीच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के वकील ने अलगाववादी नेता शब्बीर शाह से पूछ लिया कि, “क्या आप भारत माता की जय बोल सकते हैं?” इतना सुनना ही था कि कोर्ट ने ईडी के वकील का विरोध करते हुए कहा कि…

source

कोर्ट ने ईडी के वकील का विरोध करते हुए कहा कि…

कोर्ट ने जैसे ही अलगाववादी नेता को भारत माता की जय कहने को बोला इतने में ही कोर्ट ने ईडी के वकील का विरोध करते हुए कहा था कि, ” कृपया करके अदालत को कार्यवाही को टीवी चैनल की बहस ना बनाया जाए.” गौरतलब है कि, बीते कुछ समय से भारत माता की जय’ के सवाल पर कई बुद्धिजीवियों ने प्रवर्तन निदेशालय पर निशाना साधा है.

बता दें कि इसी मुद्दे पर डीएनए के एग्जीक्यूटिव एडिटर मनीष छिब्बर ने भी ईडी के वकील पर निशाना साधा है. मनीष छिब्बर ने ट्वीट कर लिखा है कि, “बड़ी दिलचस्प बात है…ईडी के वकील ने हुर्रियत लीडर शब्बीर शाह से कोर्ट रूम में कहा कि वो भारत माता की जय बोलें.

ऐसे में मनीष छिब्बर के इस ट्वीट पर कई यूजर्स ने भी अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं. इस ट्वीट पर जीएसटी अनुराग ने लिखा कि, “अगर वो भारत माता की जय बोल देते तो क्या भाजपा उन्हें किसी पद के लिए नामांकित कर देती?” तो वहीँ इस ट्वीट के जवाब में गुरप्रीत लिखते हैं कि,  “उभरते भारत की सबसे बड़ी परेशानी राष्ट्रवाद है. तुलसीदास ने तो ये बात सालों पहले ही बात कह दी थी.”
 हम आपको बता दें कि गुरुवार को कोर्ट रूम में शब्बीर शाह ने सभी पक्षों के बीच चल रहे वाद-विवाद  के बीच कहा कि इस तरह से तो उन्हें बदले की भावना से फंसाया जा रहा है. तो वहीँ दूसरी तरफ कोर्ट में ईडी के वकील ने शब्बीर शाह पर आरोप लगाया कि उनके जैसे लोग देश को हर मायने में बर्बाद कर रहे हैं.

source

इलज़ाम के बाद शाह ने कहा उनके साथ अमानवीय व्यवहार हुआ है

ईडी के वकील ने शब्बीर शाह के बारे में आगे ये कहा कि, “शाह और उन जैसे और लोग सिर्फ और सिर्फ देश के युवाओं को भड़काने का काम कर रहे हैं, जो कि बेहद गलत है. ईडी के वकील के इस आरोप के बाद शब्बीर शाह ने कोर्ट में दाखिल की गई अपनी याचिका में आरोप लगाया है. शाह ने अपनी शिकायत में कहा कि उनके साथ अमानवीय व्यवहार किया गया है.

source

शाह ने कहा कि ईडी ने मुझे जान से मारने की धमकी दी है.  वो मुझसे जबरन एक सफेद कागज पर जिसपर कुछ भी नही लिखा है उसपर साइन करवाना चाहते हैं. हम यहाँ आपको आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ईडी ने शब्बीर शाह को 25 जुलाई (2017) को गिरफ्तार किया था.