2008 में हुए पेइचिंग ओलिम्पिक में कांस्य पदक जीतने वाले भारतीय मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने 5 अगस्त को चीन के मुक्केबाज जुल्पिकार माईमाईतियाली को कठिन मुकाबले में जबरदस्त मात दे दी. आपको बता दें कि यह मैच 10 राउंड तक चला. जहां एक तरफ भारत और चीन डोकलाम को लेकर आमने सामने हैं और वहीं इस विवाद के बीच चीनी मुक्केबाज की हार की खबर भारतवासियों के लिए एक सुखद अनुभूति जैसी है. इस जीत के साथ विजेंदर सिंह ने अपना WBO एशिया पैसिफिक सुपर मीडिलवेट खिताब बचा लिया और इतना ही नही इसके साथ ही उन्होंने अपने विपक्षी का डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मीडिल वेट खिताब भी हासिल कर लिया. यह ऐसा खिताबी मुकाबला था, जिसमें जीतने वाले खिलाड़ी को जीत का ख़िताब तो मिलता ही लेकिन साथ ही दूसरे का खिताब जीतने का हकदार माना जाता. Video

वीडियो

यह खिताब जीतने के बाद विजेंदर सिंह ने जो कहा उसे सुनकर सभी भारतीय गौरवान्वित महसूस करेंगे. उन्होंने कहा कि “मैं इस टाइटल जीतकर ये नही दिखाना चाहता कि हम चीन को मात दे रहे हैं बल्कि मुझे ये टाइटल नहीं चाहिए, मैं इसे जुल्पीकर को लौटाना चाहता हूं और इस जीत को भारत-चीन की दोस्ती के नाम करता हूँ. सीमा पर तनाव जारी है और ऐसे में हमें शांति चाहिए.” आपको बता दें कि विजेंदर ने अपनी लंबाई का अच्छा फायदा उठाया और चीनी मुक्केबाज को कुछ अच्छे पंच जड़े.

मुकाबले से पहले विजेंदर सिंह ने चीन और उसके सामानों को लेकर क्या कहा था

स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने अपने मुकाबले को लेकर चीन के इस खिलाड़ी को ऐसी बात कही थी जिससे चीन को भी जरूर झटका लगा होगा. मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने चीन को लेकर कहा था कि चाइना का माल ज्यादा देर तक नहीं टिकता है. विजेंदर ने यह टिप्पणी अपने प्रतिद्वंदी जुल्फिकार मैमतअली को उकसाने के लिए की थी. मैमतअली ने ‘बैटलग्राउंड एशिया’ के नाम से होने वाली प्रतियोगिता से पहले भारतीय मुक्केबाज विजेंदर पर पलटवार किया है. विजेंदर सिंह और जुल्फिकार मैमतअली के बीच यह मुकाबला 5 अगस्त को हुआ जिसमें विजेंदर सिंह को जीत मिली.

source

विजेंदर ने चाइनीज माल पर निशाना साधते हुए कहा था कि, चाइनीज माल ज्यादा नहीं चलता तो डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मिडिलवेट चैंपियन मैमतअली ने विजेंदर को जवाब देते हुए कहा था कि, मैं विजेंदर सिंह को बताऊंगा कि चीनी लोग क्या करने में सक्षम है, हम भारत को बार-बार दिखा चुके हैं कि चीनी क्या कर सकते हैं, अब वक्त आ गया है कि विजेंदर भी सबक सीख जाएं. मैमतअली का जवाब तो वैसे फीका रहा और जीत भारत की झोली में रहा. हालाँकि मैच के बाद विजेंदर ने इस जीत को भारत चीन की दोस्ती को समर्पित कर दिया.

source

आपको बता दें कि मौजूदा समय में WBO एशिया पेसिफिक सुपर मिडिलवेट चैम्पियन विजेंदर सिंह हैं. उनसे भिड़ने के पहले चीन के नंबर एक मुक्केबाज़ ने कहा था कि उनकी नज़रें अब अपने पेशेवर करियर की दूसरी बेल्ट पर हैं. उन्होंने इस मुकाबले के लिए पूरी तरह से तैयार होने की बात भी कही थी. चीन के मुक्केबाज़ मैमतअली ने विजेंदर को लेकर कहा था कि, “मुझे नहीं लगता है कि मेरे सामने उसके पास कोई भी मौका है, उसे लगता है कि मैं बच्चा हूँ. मैं उसे बताऊंगा कि ये बच्चा किस मिट्टी का बना है.”

source

प्रोफेशन बॉक्सिंग की दुनिया में भारतीय मुक्केबाज विजेंदर सिंह लगातार तरक्की कर रहे है | जब विजेंदर सिंह से चीनी मुक्केबाज से मुकाबले के बारे में पूछा गया था तो विजेंदर सिंह ने कहा था कि “वह इस मुकाबले को जितना जल्दी होगा ख़त्म कर देंगे.”