राष्ट्रगान देश का सम्मान होता है. जो लोग अपने देश से प्यार करते हैं वो जहाँ कहीं भी राष्ट्रगान सुनते हैं उसके सम्मान में खड़े हो जाते हैं. वहीँ कुछ ऐसे दोगले देशभक्त भी होते हैं जो कहते हैं कि हमारा मन हुआ तो उठ जाएंगे, नहीं हुआ तो नहीं. राष्ट्रगान के वक्त सिनेमाघरों में खड़े होने को लेकर बीते दिनों खूब बवाल मचा. जिसके बाद कोर्ट का नया फैसला आया कि सिनेमाघरों में राष्ट्रगान के दौरान खड़ा होना आवश्यक नहीं है.

source

वहीं कुछ वक्त पहले ही जाने-माने अभिनेता कमल हसन ने भी सार्वजनिक स्थलों पर राष्ट्रगान बजाए जाने को लेकर नाराजगी जताई थी. कमल हसन ने कहा था कि, देशभक्ति दिखाने के लिए दबाव नहीं बनाया जाना चाहिए और न ही देशप्रेम को लेकर उनकी परीक्षा ली जानी चाहिए. जहाँ एक तरफ कमल हसन जैसे लोग राष्ट्रगान बजाए जाने का विरोध कर रहे हैं वहीँ कुछ ऐसी हस्तियाँ भी हैं जो इन लोगों को करारा जवाब दे रही हैं, उनमें से ही एक हैं गौतम गंभीर.

गौतम गंभीर ने राष्ट्रगान के विरोध में टिप्पणी करने वाले इन लोगों पर निशाना साधते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि, ‘ क्लब के बाहर 20 मिनट तक खड़े होकर इंतजार कर सकते हैं, आधे घंटे तक किसी रेस्तरां के बाहर खड़े होकर इंतजार कर सकते हैं लेकिन 52 सेकंड तक राष्ट्रगान के लिए खड़ा होना, काफी कठिन है.’ अपने ट्वीट के जरिये गौतम ने साफ़ संदेश दे दिया कि लोग फ़ालतू कामों को करने के लिए कई घंटे दे सकते हैं लेकिन राष्ट्र के सम्मान में 52 सेकंड खड़े नहीं हो सकते. गंभीर के इस ट्वीट के बाद कई लोगों ने रिप्लाई भी किया.

एक यूजर ने लिखा कि, मूवी के टिकट के लिए घंटों लाइन में लग जायेंगे मगर वहीँ 52 सेकंड खड़े नहीं हो सकते. अजीब कुतर्की लोग भरे पड़े हैं.

वहीँ वीजे नाम के एक यूजर ने लिखा कि, हर किसी के लिए राष्ट्रगान के दौरान खड़ा होना अनिवार्य होना चाहिए और इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here