डोकलाम विवाद

भारत और चीन के डोकालाम में तनातनी बढती जा रही है. डोकलाम विवाद को करीब दो महीने हो गए हैं.चीन हर बार 1962 के युद्ध की तरह धमकी दे रहा है. जहां एक तरफ भारत चीन से शांति से विवाद को खत्म करना चाह रहा है.दोनों देशों की सेना सीमा पर मौजूद हैं. चीन भारत को लाख गीदड़ भरी धमकियां दे रहा है. सिक्किम, भूटान और भारत की त्रिकोणीय सीमा मिलती है वहां चीन अपनी सड़क बनाने के लिये सीमा में घुसना चाह रहा था.        trump

Source

चीनी मीडिया की बार बार धमकी 

जिसके लिये भूटान आर्मी के साथ भारतीय आर्मी ने सड़क बनाने से रोक दिया था. उसके बाद चीन ने मानसरोवर यात्रा पर गये यात्रियों को अपनी सीमा में नहीं घुसने दिया तथा यात्रा पर रोक लगा दी.वहीं सीमा पर भारतीय सेना चीनी सेना के खिलाफ ‘नो वॉर, नो पीस’ की स्थिति में है. चीन की मीडिया लगातार भारत को धमका रही है. आये दिन ऐसे लेख प्रकाशित किये जा रहे हैं. जो भारत के खिलाफ जहर उगल रहे हैं

Source

ट्रम्प ने कहा अमरीका या उसके किसी सहयोगी देश पर हमला किया तो ऐसा हाल..

अमेरिका को बार-बार हमले की धमकी दे रहे उत्तर कोरिया को धमकाते हुए अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कड़ी चेतावनी दी है. ट्रम्प ने कहा है कि अगर उत्तर कोरिया ने अमरीका या उसके किसी सहयोगी देश पर हमला किया तो अंजाम बेहद बुरे होंगे. अगर हमला करने के बारे में सोचा भी तो उसका ऐसा हाल होगा जो उसने कभी सोचा भी नहीं होगा.

Source

ट्रम्प ने दी कड़ी चेतावनी 

ट्रम्प ने मंगलवार को अपने दिए बयान का जिक्र करते हुए कहा कि अब यह वक्त अमरीका के लोगों को सख्त कदम उठाने का है. ट्रम्प ने कहा अगर उत्तर कोरिया ने कोई भी हरकत की तो उसे भारी विध्वंस का सामना करना पड़ेगा. यह उसके लिए कड़ी चेतावनी है.

Source

संवाददाताओं के बातचीत के दौरान ट्रम्प ने कहा 

आपको बता दें कि ट्रम्प आज कल अपने न्यू जर्सी के बेडमिंस्टर के घर में गर्मियों की छुट्टियाँ बिताने गए हैं. ट्रम्प ने अपने घर में संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा कि ‘‘यह पहली बार है जब उन्होंने यह सुना है जैसा कि वे सुनते हैं. यह बयान उतना भी सख्त नहीं था.’’उन्होंने कहा,‘‘वे लंबे समय, कई वर्षों से हमारे देश के साथ यह कर रहे हैं और अब वक्त आ गया है कि कोई व्यक्ति देश और अन्य देशों के लोगों के लिए खड़ा रहे. आपकी जानकारी को बता दें कि राष्ट्रपति मंगलवार को दिए बयान पर सवाल का जवाब दे रहे थे.

Source

ट्रम्प ने कहा सेना का हमें 100 फीसदी समर्थन 

कई विदेश नीति के विशेषज्ञों और डैमोक्रेटिक सांसदों ने उनके इस बयान की आलोचना करते नजर आये. ट्रम्प ने कहा हमारी सेना ने हमें 100 फीसदी समर्थन दिया है. हर किसी ने हमारा समर्थन किया है. इसी के साथ ट्रम्प ने कहा इस देश के लोगों को काफी सहज होना चाहिए और मैं आपको यह बता दूं कि अगर जिसे हम प्यार करते हैं या जिसका हम प्रतिनिधित्व करते हैं, या हमारे सहयोगियों या हम पर हमला करने के बारे में सोचता भी है तो वे भयभीत हो सकते हैं।’’