हाल ही में बीजेपी के प्रमुख चुनावी मुद्दे ‘विकास’ को लेकर खूब मजाक बनाया गया. सोशल मीडिया पर ‘विकास पागल हो गया है’ खूब ट्रेंड हुआ. विपक्षी पार्टियों ने भी बीजेपी को घेरने के लिए इस कैम्पेन का खूब फायदा उठाया और बड़े-बड़े मंचों से बीजेपी पर तंज कसा. इस नारे का इस्तेमाल करके गुजरात में राहुल गांधी भी खूब चहक रहे हैं. आज हम आपको बताते हैं कि आखिर ये कैम्पेन शुरू किसने किया.

source

नवभारत टाइम्स की खबर के अनुसार विकास की मनोरंजक पैरोडी बनाकर सवाल करने वाले कैम्पेन ‘विकास गांडो थयो छे’ (विकास पागल हो गया है) के पीछे गुजरात के एक युवक का हाथ है. ये युवक गुजरात के अहमदाबाद का रहने वाला है और इसका नाम सागर सवालिया है.

source

सागर की उम्र अभी 20 साल है और वो सिविल इंजीनियरिंग का स्टूडेंट है. सागर हार्दिक पटेल की अगुवाई वाली पाटीदार अनामत आंदोलन समीति की IT सेल का नेतृत्व करते हैं. सागर के द्वारा ही 24 अगस्त को फेसबुक पर ‘विकास गांडो थयो छे’ (विकास पागल हो गया है) पोस्ट किया गया था. सागर बताते हैं कि जिस दिन उन्होंने ये पोस्ट की थी उसी दिन 200 लोगों ने उसे शेयर किया था और एक हफ्ते में वो वायरल हो गई. इसके बाद इस टैग लाइन का इस्तेमाल कांग्रेस की IT सेल द्वारा भी किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here