उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में एक दुखद घटना हुई. बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में लगभग 48 घंटे में 36 मासूमों की जान चली गई और मासूमों की मौत की ये संख्या अब 60 से भी ऊपर बताई जा रही है. आपको ये जानकर हैरानी होगी कि तीन दिन पहले ही यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वहाँ का दौरा किया था. उनके इस दौरे के बाद भी अस्पताल प्रशासन ने कोई सुधार नहीं किया उनका लापरवाही भरा रवैया जैसा था वैसा ही बना रहा. इस लापरवाही का अस्पताल प्रशासन पर तो कोई फर्क नहीं पड़ा लेकिन उनकी इस लापरवाही से कई मासूमों की जान चली गई. हालांकि अस्पताल प्रशासन ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से मौत की बात को सिरे से नकार रहा है.

source

गोरखपुर में बच्चों की मौत के बाद चारों तरफ हड़कंप मच गया है. बच्चों की मौत से ये बात तो साफ़ हो गई है कि यूपी के अस्पतालों की हालत बहुत खराब है नहीं तो इतनी बड़ी संख्या में बच्चों की मौत होना संभव नहीं है.

source

अबतक मौत का कारण लापरवाही को माना जा रहा है. इस घटना के बाद सूत्रों ने बताया है कि अभी भी अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई की भारी कमी है.

source

इस घटना के बाद पीएम मोदी भी हरकत में आ गए हैं उन्होंने इस घटना पर दुख व्यक्त किया है. प्रधानमंत्री कार्यालय से कहा गया है कि पीएम मोदी गोरखपुर में स्थिति पर नज़र बनाए हुए हैं. PMO की तरफ से इस घटना को लेकर ट्वीट भी किये गये हैं. पहले ट्वीट में कहा गया है कि पीएम मोदी की इस घटना पर नज़र बनी हुई है.

इसके बाद PMO की तरफ से एक और ट्वीट किया गया जिसमें लिखा गया है कि केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल और स्वास्थ्य सचिव पूरी स्थिति पर नज़र बनाए रखें. अनुप्रिया पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री इस घटना को लेकर बहुत दुखी हैं, उन्होंने आगे ये भी बताया कि वो कुछ ही देर में गोरखपुर पहुँच जाएंगी और वहां जाकर हालात का मुआयना करेंगी.

वहीँ योगी सरकार भी इस हादसे के बाद हरकत में आ गई है. योगी सरकार इस घटना की असली वजह जानने की कोशिश कर रही है.