कुछ दिन पहले आगरा घुमने आये विदेशी नागरिक के साथ गंभीर रूप से मारपीट की गयी थी जिसमें यह कपल बुरी तरह घायल हो गया था. यह खबर सामने आने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस मामले को लेकर राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी थी जिसके बाद राज्य प्रशासन ने इस मामले की गंभीरता को समझते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली हैं. गिरफ्तार किये गये आरोपियों ने इस मामले पर जो खुलासे किये है उसे सुनकर आप हैरान रह जायेंगे. यहाँ हम आपको बता देना चाहते है कि 5 आरोपियों में से 3 नाबालिक हैं और एक महज 13 साल का लड़का भी है.

Source

खबर के मुताबिक़ हमले के पांच दिन बीत जाने के बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बातचीत में आरोपियों ने पुरे घटनाक्रम के बारे में बताया. आरोपियों का कहना है कि “हम उन्हें दूर से देख रहे थे कुछ देर बाद उन लोगों ने हमसे फतेहपुर शिकरी के बारे में हमसे कुछ पूछ रहे थे लेकिन हम समझ नही पा रहे थे. उसके बाद वो लोग कुछ दूर जाकर किस करने लगे. उसके बाद पंकज जाकर उन्हें पीटने लगा और फिर हम सबने मिलने उनकी पिटाई कर दी”. पाँचों आरोपियों में से सबसे कम उम्र (13) के लड़के ने बताया कि “हमने महिला को पत्थर मारा लेकिन उन्हें लगा नही. लड़का पहले से जमीन पर गिरा था अन्य लोगों ने लाठी से उसकी पिटाई कर दी. जिससे वो दोनों लहुलुहान हो गये”.

Source

आपको बता दें कि पीड़ित स्विस नागरिक क्लर्क ने जो बयान दिया है उसमें और आरोपियों के बयान में काफी अन्तर हैं. पीड़ित ने कहा कि “हम किस नही कर रहे थे. लड़के हमारे साथ सेल्फी लेने के लिए काफी दूर से पीछा कर रहे थे. इसका विरोध करने पर हमें उनके गुस्से का शिकार होना पड़ा”. वहीँ दूसरी तरह आरोपियों ने रोते हुए कहा कि “हमसे अनजाने में बहुत बड़ी गलती हो गयी है, हम उनसे माफ़ी  मांगना चाहते है”.

Source

सातवी कक्षा में पढने वाले 13 साल के नाबालिक आरोपी का कहना है कि “हमने अपने जीवन की सबसे बड़ी चूक और बेवकूफी भरी गलती कर दी है. हम उनसे मांफी मांगना चाहते है”. बातचीत के दौरान पाँचों आरोपियों के चेहरे पर पुलिस का डर साफ़ दिखाई दे रहा था. पुलिस ने इन्हें आईपीसी की कई गंभीर धाराओं के तहत गिरफ्तार किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here