भारत और चीन के बीच चल रही लड़ाई के लिए कहीं ना कहीं भूटान ज़िम्मेदार है और भारत हमेशा से ही भूटान की सहायता करता आया है. ऐसे में आपको बता दें भारत के 70वें स्वतंत्रा दिवस के मौके पर भूटान को लेकर एक ट्वीट किया है जिसको खुद पीएम मोदी ने शेयर करते हुए उसका रिप्लाई दिया है.

 

आपको बता दें चीन भूटान के रास्ते से एक सड़क बनाना चाहता है जिसका विरोध भारत ने किया है और इसके चलते डोकलाम बॉर्डर पर तनातनी ज़ारी है. चीन लगातार भारत को  धमकी दे रहा है लेकिन भारत भी कड़ा रूख अपनाए हुए है.

देखिये इस बीच भूटान के पीएम ने भारत के 70वें स्वतंत्रा दिवस को लेकर क्या ट्वीट किया है !

 

 

source

 

भूटान के पीएम की इस ट्वीट को पीएम मोदी ने re tweet करते हुए कहा कि” आपकी बधाई के लिए आभार”

देखिये पीएम मोदी का ट्वीट !

source  

 

आज भारत 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस आजादी का जश्न मना रहा है. हर बार की तरह इस बार भी देश के प्रधानमंत्री ने लाल किले पार झंडा फहराया और देश को संबोधित भी किया. दरअसल प्रधानमंत्री के इस भाषण का देश को इन्तजार रहता है. प्रधानमंत्री ने भी अपने इस भाषण के लिए अच्छे से तैयारी भी करते है. आप इस बात से अंदाजा लगा सकते है कि मोदी मन की बात में भी इस बात का जिक्र कर चुके थे. उन्होंने अपने भाषण को छोटा रखने की बात कही थी. मोदी ने लालकिले से चीन और पाकिस्तान को साफ़ साफ़ चेतावनी भी दे दी.

Source

चीन और पाकिस्तान को चेताया 

प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी चीन और पाकिस्तान को जवाब देते हुए कहा कि भारत की ताकत को सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए दुनिया ने देख ली. हमारी सेनाएं अपना कर्तब दिखाने में पीछे नही हटते.आतंकवाद और घुसपैठ के मौके पर सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया है आतंरिक सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है समन्दर हो या सीमा हो, साइबर हो या स्पेस हो हमें हर प्रकार की सुरक्षा करनी है .भारत इसे करने में सक्षम है, देश के खिलाफ कुछ भी होने के हौसले परस्त करने में हम सक्षम हैं. इस तरह के भाषण से तो चीन और पाकिस्तान समझ ही गये होंगे कि भारत पीछे हटने वाला नही है. इस सन्देश को डोकलाम के मुद्दे पर चीन को भी समझ आया होगा.

Source

कश्मीर की समस्या गले लगाकर सुधारेंगे

इसी के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कश्मीर के लोगो और वहां की समस्या पर टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि समस्या ना गोली से, ना गाली से, कश्मीर की समस्या सुलझेगी गले लगाने से. हालांकि, आतंकवाद के खिलाफ सॉफ्ट होने का कोई सवाल नहीं है. इस बात को कश्मीर में आतंकवाद फैलाने वालों के लिए एक सन्देश के तौर पर देखा जा रहा है.

Source

गोरखपुर हादसे पर जताया दुःख 

गोरखपुर में हुए बच्चो की मौत के मामलें में नरेन्द्र मोदी ने अपनी बात रखी और उसपर दुःख जताते हुए कहा कि पिछले दिनों अस्पताल में मासूम बच्चों की मौत हुई. मैं देशवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि ऐसे संकट के समय पूर्ण संवेदनाओं के साथ हम जनसुरक्षा के साथ कुछ भी करने में कमी नहीं रहने देंगे. दरअसल गोरखपुर में लगभग 60  लोगों की मौत के बाद लोगों आक्रोश था कि प्रधानमंत्री ने इस घटना पर कुछ बोले नही.

Source

तीन तलाक पर दिया जोर 

तीन तलाक के मुद्दे पर भी प्रधानमंत्री ने अपनी राय रखी और कहा कि पीड़ित महिलाओं ने देश भर में जोरदार आन्दोलन किया और  एक तरह से माहौल बनाया. उन्होंने कहा कि उनकी इस लड़ाई  में हिन्दुस्तान इनके साथ है.कुछ लोग आस्था और धर्म के नाम पर कुछ भी करते है. उन्होंने हिंसा का जिक्र भी करते हुए कहा कि आस्था के नाम पर हिंसा को जगह नही दी जा सकती.

Source

मोदी ने कालेधन के बारे में जानकारी दी कि एसआईटी बनाये जाने के बाद अब तक सवा लाख करोड़ रूपये पकडे जा चुके है. मोदी लगभग सभी जरुरी मुद्दे को पकड़ने की कोशिश की. लेकिन विरोधियों का कहना है कि मोदी का यहाँ भाषण चुनावी रैली की तरह था.

देखिए प्रधानमंत्री का लालकिले का पूरा भाषण

Honoured to address my fellow Indians from the ramparts of the Red Fort on Independence Day. Watch my speech.

Posted by Narendra Modi on 2017 m. rugpjūtis 14 d.

मोदी के हौसले को देखते हुए चीन और पाकिस्तान के यह बात समझ आ गयी होगी चाहे डोकलाम का विवाद हो या आतंकवादियों के मुद्दे पर भारत नरमी नही बरतेगा. इसका मुंह तोड़ जवाब देने के लिए भारत तैयार है.