महाराष्ट्र में रोजगार की तलाश में गये उत्तर भारतीयों को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के गुंडों का आतंक अक्सर झेलना पड़ता हैं. राज ठाकरे के गुंडे अक्सर उनके साथ मारपीट करते हैं उन्हें नुकसान पहुंचाते हैं. मुंबई के एक लोकल रेलवे स्टेशन पर हुए हादसे के बाद से तो जैसे इन फेरीवालों को शामत आ गयी थी जहां देखों वहीं उनके साथ मारपीट की जा रही थी. इसी तरह मुंबई के मलाड स्टेशन के बाहर कुछ मनसे के कार्यकर्ता इकट्ठे हो गये और रैली निकाल रहे फेरीवालों को रोकने लगे फिर उसके बाद जो हुआ मनसे के गुंडे कभू भूल नही पायेंगे!

Source

आपको बता दें कि कांग्रेस के नेता संजय निरुपम ने एक दिन इन फेरीवालों की सभा में भाषण दिया था जिसके बाद ये फेरीवाले एक रैली निकाल रहे थे. इसी रैली को रुकवाने के लिए मनसे नेता पहुंचे और वहां भी गुंडा गंर्दी शुरू कर दी जिसके बाद फेरीवालों का धैर्य जवाब दे गया और उन्होंने मनसे के नेता समेत मनसे कार्यकर्ताओं की जमकर पिटाई कर दी. फेरीवालों की पिटाई से घायल मनसे के पांच कार्यकर्ताओं को अस्पताल में भर्ती करवाया गया.

Source

इस मामले में कुछ फेरीवालों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. फेरीवालों द्वारा मनसे के कार्यकर्ताओं की पिटाई किये जाने के बाद दादर में भी राज ठाकरे के गुंडों का आतंक देखने को मिला वहां पर भी फेरीवालों के दुकानों को नुकसान पहुंचाया गया उनके साथ मारपीट की गयी. मनसे का आरोप है कि संजय निरुपम ने ही फेरीवालों को मनसे के कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा के लिए उकसाया था और अब मनसे उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत करने पर विचार कर रही है.

Source

राज ठाकरे को पार्टी मनसे के कार्यक्रताओं की गुंडागर्दी तो हमें हमेशा देखने को मिलती है लेकिन शायद अब फेरीवालों ने भी इन गुंडों का सामना करने का मन बना लिया हैं. एमएनएस के अध्यक्ष राज ठाकरे ने इसी बीच फिर एक भड़काऊ बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि छठ के बहाने बिहारी और यूपी वाले मुंबई को कब्जाना चाहते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here