अभी कुछ दिन पहले देश ने स्वतंत्रता दिवस मनाया . देश के प्रधानमंत्री ने लालकिले पर झंडा फहराकर देश को संबोधित किया . 15 अगस्त के बाद देश के कोने कोने से कुछ ऐसी तस्वीरें सामने आई जिसे देखकर हमें अपने यहाँ के लोगों पर गर्व हुआ . लेकिन कुछ लोग ऐसे भी जो इस देश को बदनाम करने भी कोई कसर नही छोड़ते हैं . हम आज आपको एक ऐसा वीडियो दिखाने जा रहे हैं जिसे देखकर आपको यह विश्वास हो जाएगा कि किस तरह कुछ लोग देश में तमाम तरह के विवाद को पैदा करते हैं .

Source

तिरंगा फहराने के लिए अलग अलग नियम 

प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी, देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सभी ने जब भी झंडा फहराया तो किसी ने नही देखा कि कौन जूते पहनकर झंडा फहरा रहा है? और कौन जूते निकाल कर झंडा फहरा रहा है? लेकिन जब एक आम मुस्लिम आदमी तिरंगे को फहराता है तो कुछ विशेष पार्टी के लोग उसके लिए नए नए नियम बनाकर उनके साथ अत्याचार ही करते है नही तो अगर इस तरह ही तिरंगे का सम्मान होता है तो क्या अब तक सभी ने तिरंगे का अपमान किया है?

प्रिंसिपल के साथ मार-पीट का वायरल वीडियो 

एक वीडियो इस समय सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है जिसे देखने के बाद आपको पूरी तरह आभास हो जाएगा कि किस तरह जब एक मुस्लिम व्यक्ति जो एक स्कूल का प्रिंसिपल है, तिरंगा फहराने के लिए गया तो वहां मौजूद (जिन्हे आरएसएस और बीजेपी का कार्यकर्त्ता) बताया जा रहा है उन लोगो ने उसका विरोध करने लगे. उनका कहना था कि जूता निकालकर ही तिरंगे को फहराना है. लेकिन जब प्रिंसिपल ने सब अनसुना करके झंडा फहरा दिया.

 

तेलंगाना के निजामाबाद में 15 अगस्त को एक सरकारी स्कूल में कार्यक्रम हो रहा था प्रिंसिपल के जूता पहनकर झंडा फहराने के बाद वहां मौजूद लोगो ने उस व्यक्ति के साथ दुर्व्यवहार किया और उसके साथ मार पीट भी करनी चाही और उसे पकड़ कर उसे स्कूल कैम्पस से भी बाहर निकाल दिया गया. इस वायरल वीडियो को खूब देखा जा रहा है और शेयर किया जा रहा है.

जूता पहनकर ही फहराते है तिरंगा 

अब सवाल यह उठता है कि जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, देश के गृह मंत्री और बड़े बड़े नेता तिरंगा फहराने के वक़्त जूते नही निकालते है और उनके जूता पहनकर झंडा फहराने से किसी को दिक्कत नही होती है लेकिन जब एक व्यक्ति जो स्कूल का प्रिंसिपल है उससे जूते निकालकर झंडा फहराने को लेकर क्यों बवाल किया गया. आखिर कब तक इस तरह से सोच समझ कर बवाल पैदा किया जाता रहेगा?

Source

रोज़ कुछ लोग नए नए कानून कुछ लोगों के लिए लेकर आते हैं. देश के प्रधानमंत्री समेत कई बड़े नेता और शायद सब जब जूते पहनकर ही झंडा फहराते है तो आखिर उस व्यक्ति के साथ ऐसा क्यों किया गया? आपको बता दें कि मामला सामने आने के बाद पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ्तार किया है. वीडियो अपलोड होने के कुछ ही देर बाद वीडियो वायरल हो गया है.

देखें वीडियो नरेन्द्र मोदी,राजनाथ सिंह और प्रिसिपल के झंडा फहराने का वीडियो 

Principal Thrashed by ABVP/RSS Goons for Unfurling National Flag Wearing Shoes Because he was a Muslim !!While Leaders of Nationalist Party are Respected for doing the Same !!Irony, isn't it..

Posted by Bhindi Bazaar on 2017 m. rugpjūtis 17 d.

आपकी जानकरी के बता दें कि 15 अगस्त के मौके पर उत्तर प्रदेश सरकार के  द्वारा यह आदेश जारी किया गया था जिसमें कहा गया था कि प्रदेश के सभी मदरसे में तिरंगा फहराना अनिवार्य है और उसके साथ साथ इसका वीडियो रिकॉर्डिंग भी करना जरुरी है. इसके बाद देश में खूब बवाल मचा था. इसके अलावा जब मुंबई महानगर पालिका द्वारा यह कानून बनाने के लिए मुख्यमंत्री के पास भेजा गया कि BMC के सभी स्कूलों में सफ्ताह में कम से कम दो दिन वन्दे मातरम् गाना अनिवार्य है उस समय भी खूब बवाल मचा था.