बीजेपी के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह तीन दिन के दौरे पर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल पहुंचे. वहां पर उनका जबरदस्त स्वागत किया गया इसी वजह से उन्हें भाजपा के ऑफिस पहुँचने में लगभग डेढ़ घंटे की देरी हो गई. इसके बाद सांसद, विधायक, जिला अध्यक्ष, प्रदेश कोर ग्रुप के सदस्य, प्रदेश पदाधिकारी जिला प्रभारी समेत संभागीय मंत्री के साथ मीटिंग 10:30 बजे तय हुई थी. इसमें देरी हो गई. इसी दौरान, प्रदेश BJP अध्यक्ष नंदकुमार चौहान अमित शाह के स्वागत में स्पीच देने लगे. अमित शाह को ये देखकर असहज महसूस हुआ, क्योंकि पहले ही मीटिंग में देरी हो चुकी थी, इसलिए शाह ने नंदकुमार को बीच में ही टोक दिया.

source

इसके बाद अमित शाह ने नंदकुमार सिंह चौहान से कहा कि, ज्यादा भूमिका मत बनाओ और मीटिंग शुरू करो. मैं यहाँ भाषण सुनने के लिए नहीं आया हूँ. इससे पहले जब पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उन्हें बीजेपी और कमल के निशान वाले दुपट्टे दिए तो उन्हें तो शाह ने स्वीकार कर लिया लेकिन उन्होंने फूल और गुलदस्ते लेने से साफ़ इनकार कर दिया.

source

इसके बाद जब मीटिंग शुरू हुई तो अमित शाह ने केवल मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान और नंदकुमार सिंह चौहान से ही स्वागत करवाया. अमित शाह के साथ पार्टी कार्यकर्ताओं और सीएम शिवराज सिंह चौहान की ये मीटिंग करीब 45 मिनट तक चली.

source

बता दें कि अमित शाह के भोपाल दौरे को सांगठनिक कवायद के रूप में देखा जा रहा है. आपको जानकारी होगी कि 90 दिन के विशेष दौरे के तहत अमित शाह तीन दिन के लिए भोपाल पहुंचे हैं. 2018 में MP में विधानसभा चुनाव हैं इसीलिए अमित शाह का ये दौरा बेहद अहम माना जा रहा है.

source

शाह ने मीटिंग के दौरान कहा कि मुझे किसी का क्रेडिट और डेबिट नहीं चाहिए. मीटिंग में केवल काम की बातें करो. मैंने प्वाइंट्स वाइज आपसे जो जानकारी मांगी है वही दो. मुझे पूरी बैलेंस शीट नहीं चाहिए. शाह ने सख्ती के साथ कहा कि बैठक में की गई बातें बाहर नहीं पहुंचनी चाहिए. अमित शाह ने इस मीटिंग में ये भी साफ़ कर दिया कि अगला चुनाव भी शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में लड़ा जाएगा.

source

उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस अगले चुनाव में 2 सीट भी नहीं जीत पाएगी. उन्होंने नोटबंदी और GST पर बात करते हुए कहा कि, सरकार का काम केवल लोकप्रियता हासिल करने के लिए योजनाएं चलाना नहीं है बल्कि कभी-कभी देश की भलाई के लिए सख्त कदम उठाना भी है.

source

अमित शाह ने इस मीटिंग के बाद मंत्री नरोत्तम मिश्रा के घर खाना खाया. यहाँ पर उन्होंने शहर के कुछ चुनिंदा पत्रकारों और मंत्रियों से मुलाक़ात भी की. मिश्रा ने अमित शाह के खाने का ध्यान रखते हुए गुजराती खाना बनवाया था जो अमित शाह को बहुत पसंद है. हालांकि अमित शाह को गुरूवार को भोपाल पहुंचना था लेकिन वो समय पर एअरपोर्ट नहीं पहुँच पाए और उनकी फ्लाईट मिस हो गई. इसके बाद चार्टेड प्लेन में भी तकनीकी खराबी आ गई और वो भोपाल नहीं जा पाए इसके बाद वो शुक्रवार को वहां पहुंचे.