तीन तलाक का फैसला आने के बाद पूरे देश में मुस्लिम महिलाओं के बीच ख़ुशी का माहौल है तो वहीं मुल्ले-मौलवियों को सांप सूंघ गया है. छोटी-छोटी बात पर फ़तवा ज़ारी करने वाले मौलवी इस समय छुपने के लिए जगह ढूंढ रहे हैं. आपको बता दें इस बीच जिस मौलवी ने सोनू निगम के खिलाफ फ़तवा जारी किया था  उनसे जुड़ा एक ट्वीट वायरल हो रहा है. आपको बता दें सोनू निगम ने एक बार एक ट्वीट करते हुए लाउडस्पीकर की आवाज़ पर सवाल उठाया था. इस ट्वीट का गलत मतलब निकालते हुए मुसलमानों ने इसे अज़ान के खिलाफ समझा था.

 

 

इसके कुछ दिन बाद ही एक मौलवी जिसका नाम कादरी था उसने एक फतवा जारी करते हुए कहा था कि जो कोई सोनू निगम के बाल कटकर लाएगा मैं उसे 10 लाख रूपये दूंगा लेकिन जब सोनू निगम ने बाल मुंडवा लिए तो कादरी अपनी बात से पलट गये थे, एक बार फिर उनसे जुड़ा एक ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

देखिये इस बार क्या है मौलवी का फ़तवा..

source

 

आपको बता दें अडोल्फ़ हिटलर नाम के पैरोडी अकाउंट से यह फेक फतवे का ट्वीट किया गया है, इस फतवे में लिखा है कि जो कोई सुप्रीम कोर्ट के बाल लाएगा उसे 10 लाख रूपये दूँगा.

इस ट्वीट का लोगों ने जमकर मजाक बनाया है, देखिये कुछ मज़ेदार रिप्लाई. सबसे पहले आपको जी न्यूज़ के फेमस एंकर रोहित सरदाना का रिप्लाई दिखाते हैं.

देखिये कुछ और मजेदार रिप्लाई..

 

ये भी पढ़ें : तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया बड़ा फैसला !
class=”td-module-meta-info”>
जब हिन्दू एंकर से ये क्या बोल बैठा ये मौलवी ? “मैं तीन तलाक पर रोक का फैसला मानने को तैयार हूँ लेकिन मुझे ये बता दो कि…

कई दिनों से देश में चल रहे तीन तलाक पर अब जाकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया है और ऐसा फैसला आया है जिसे जानकर मुस्लिम महिलाओं के बीच ख़ुशी की लहर दौड़ गयी है. आपको बता दें  CJI खेहर और जस्टिस नजीर ने इसपर राय रखते हुए कहा कि “हम तीन तलाक को असंवैधानिक घोषित नही कर सकते, लेकिन किसी के साथ अन्याय न हो इसलिए सरकार को इसके लिए कानून बनाना होगा. तीन तलाक पर हम 6 महीने के लिए रोक लगाते हैं.” 

 

 

 

अब इसके बाद मानों मुस्लिम पुरषों को सांप सूंघ गया है और आज तक की एक डिबेट में मुस्लिम पक्ष के लिए आये मौलाना कि बोलती बंद करते हुए एक मुस्लिम औरत ने उन्हें करारा जवाब दिया है. वीडियो में पहले तो मुस्लिम औरतें मिठाई बाट रही हैं

देखिये वीडियो !

class=”_h8t”>
दरअसल मौलवी ने पुछा है कि अगर कोई इन 6 महीनों में तलाक देता है तो उसको क्या सजा होगी ?

 

वहीं आपको बता दें कि इस पर बाकी तीन जजों ने तीन तलाक कू असंवैधानिक घोषित करने के पक्ष में रहे और सरकार को इस पर कानून बनाने की सलाह दी. जिस तरीके से इस मुद्दे पर लोगो को फैसले का बेसब्री से इंतजार था उस हिसाब से इस फैसले के बाद माना जा रहा है कि अब गेंद केंद्र सरकार के पाले में है.

Source

सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक पर फैसला सुनाते हुए कहा है कि “तीन तलाक पर 6 महीने की रोक लगाते हुए केंद्र सरकार से कहा है कि वो इसपर कानून बनाये.” आपको बता दें कि 5 जजों की बेंच ने इस अहम् मुद्दे पर फैसला सुनाया है.

सबसे खास बात ये है कि SC ने कहा कि “अगर तीन तलाक पर केंद्र सरकार 6 महीने में कोई कानून नही बना पाती है तो ये तीन तलाक पर रोक जारी रहेगी.”