पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री हमेशा किसी न किसी विवाद में रहती ही हैं. कभी अपने बयानों को लेकर तो कभी अपने सरकार के फैसले को लेकर, लेकिन पिछले कई सालों से वो हिन्दू मुस्लिम के टकराव की राजनीति पर उतर आईं हैं. पिछले कुछ सालों में पश्चिम बंगाल में हिन्दू मुस्लिम के बीच तनाव और दंगे की कई खबरें आई. ख़बरों में ज्यादातर हिन्दुओं को परेशान करने उन्हें वहां से भगाने और उनपर अत्याचार की बात सामने आई है. लेकिन इस बार ममता सरकार हिन्दुओं के आने वाले त्यौहार दुर्गा पूजा में दखल देकर एक बार फिर नए विवाद को जन्म दे दिया है.

Source

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले साल मुहर्रम के चलते ममता बनर्जी ने प्रदेश में निश्चित समय के बाद दुर्गा विसर्जन करने पर रोक लगा दी थी जिस पर खूब बवाल मचा था. मामला कोर्ट तक पहुँच गया था. उसके बाद ममता सरकार को पीछे हटना पड़ा था. ऐसा कहा जा रहा है एक बार फिर ममता बनर्जी ने हिन्दुओं की आस्था से खिलवाड़ करने का फैसला लिया है . ममता सरकार ने फैसला लिया है जिसमें मुहर्रम के जुलूसों के चलते दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन करीब डेढ़ दिन की रोक रहेगी।

Source

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सीएम ममता बनर्जी ने दुर्गा पूजा के बाद मूर्ति विसर्जन को लेकर 30 सितंबर की शाम 6 बजे से लेकर 1 अक्टूबर तक रोक का आदेश दिया है. इस आदेश के बाद विपक्ष आक्रमक हो गया है.श्रद्धालु विजयदशमी को शाम 6 बजे तक ही दुर्गा प्रतिमा का विसर्जन कर सकेंगे. इसके अगले दिन मुहर्रम होने की वजह से एक अक्टूबर को दुर्गा प्रतिमा विसर्जन पर रोक रहेगी.

इससे पहले पिछले साल कोलकाता पुलिस ने मुहर्रम के चलते दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन पर रोक लगा दी थी. जिसके बाद देश भर में खूब बवाल मचा था. मामला कोर्ट में जाने के बाद कोर्ट ने सरकार को जमकर फटकार लगाते हुए कहा था कि यह एक समुदाय को रिझाने की कोशिश है. जिसके बाद सरकार को पीछे हटना पड़ा था. भारतीय जनता पार्टी ने ममता बनर्जी पर मुस्लिम तुष्टीकरण करने का आरोप लगाया था.

Source

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर विपक्ष आरोप लगाता रहा है कि वो समाज को लड़ाने वाली राजनीति कर रही है. पिछले कुछ सालों में प्रदेश में सामाजिक तनाव और दंगे के मामले बढ़े है. हिन्दुओं पर अत्याचार किया जा रहा है. ममता बनर्जी तानाशाही रवैये से काम कर रही है.

Source

हालाँकि ममता बनर्जी कभी खुलकर किसी के पक्ष में बोलते नजर नही आईं. लेकिन पर्दे के पीछे रहकर हिन्दुओं का विरोध कर और मुस्लिमों के साथ फैसले लेकर एक तरह से समाज को बांटने और एक स्पेशल समाज को रिझाने की कोशिश कर रहीं है.

पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के इस फैसले के बाद विपक्ष में जमकर आक्रोश है. विपक्ष आक्रमक भी हो गया है. इस फैसले को लेकर विपक्ष कोर्ट जा सकता है और एक बार फिर देश में बवाल मचाना तय माना जा रहा है. दुर्गा पूजा पश्चिम बंगाल के हिन्दुओं का सबसे बड़ा त्यौहार है. अगर हिन्दू मुस्लिम मिलकर अपने त्यौहार को मनाएं तो शायद समाज में एक नया सन्देश जाए.