भारत में इन दिनों हिन्दू और मुसलमानों के बीच जंग छिड़ी हुई है, जहां एक तरफ बीजेपी सरकार को हिन्दुओं की सरकार के रूप में देखा जा रहा है वहीं दूसरी तरफ मुसलमानों ने जमकर पीएम मोदी का समर्थन किया है. ऐसे में यह जंग भारत और पाकिस्तान के बीच की जंग से कम नहीं है. इस बीच एक ऐसी घटना हुआ है जिसने सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर लिया है. दरअसल हाल ही में एक हनुमान मंदिर पर पाकिस्तानी झंडा लगा हुआ मिला.

source

घटना मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले की है जहाँ बुधवार की रात कुछ शरारती तत्वों ने एक मंदिर पर पाकिस्तान का झंडा लगा दिया. जानकारी के लिए बता दें कि  जसोला रोड़ स्थित यह पंचमुखी हनुमान मंदिर एकांत में है. घटना की जानकारी मिलते ही कुछ संगठनों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया और दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी करनी शुरू कर दी.

source

इस मुद्दे पर नरसिंहपुर से मिली अबतक की जानकारी के मुताबिक किसी ने साजिश के तहत बुधवार रात हनुमान मंदिर के ऊपर पाकिस्तान का झंडा लगा दिया था. मंदिर में पाकिस्तानी झंडा लगा देख इसके विरोध में गुरूवार को कुछ संगठनों ने प्रदर्शन किया.

source

इस मामले से गुस्साए लोगों ने कुछ बस्तियों में जाकर सम्प्रदाय विशेष के खिलाफ नारेबाजी भी की लेकिन पुलिस ने समय रहते ही हालात पर नियंत्रण कर लिया. इस बीच यह भी पता चला है कि जिस तरह झंडा लगाया गया और उसके साथ जो पर्चा फेंका गया, वह किसी स्थानीय व्यक्ति की साजिश लगती है क्योंकि पर्चा हिंदी में लिखा गया है क्योंकि उसमें उर्दू के शब्दों का कम इस्तेमाल किया गया है.

देखिये वीडियो:

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से जब इस मुद्दे पर पुछा गया तो उन्होंने बताया कि, “अभी इस बात की जांच की जा रही है कि कहीं सांप्रदायिक तनाव फैलाने के लिये तो ये साजिश नहीं की गई है?”  नरसिंहपुर के विधायक जालमसिंह पटेल ने इस घटना की निंदा की है. उन्होंने पुलिस से मांग की है कि तत्काल इस बात का पता लगाया जाए कि इसके पीछे कौन है. हालाँकि जालमसिंह पटेल का यह भी कहना है कि उनके जिले में साम्प्रदायिक ताकतें बहुत कमजोर हैं ऐसे में पाकिस्तान का झंडा लगाया जाना किसी बड़ी साजिश का हिस्सा है.