25 अगस्त को जब हरियाणा जल रहा था तो राजनीति के बड़े नेता ये सोचने में व्यस्त थे कि आखिर सपोर्ट किसका किया जाये कानून का या फिर राम रहीम का जिसकी वजह से उनकी राजनीति चलती है. माहौल का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि लोगों ने घरों में घुसकर लूटपाट की और जो भी मिला उसे नुकसान पहुँचाया. बलात्कारी बाबा गुरमीत राम रहीम जो कि साध्वी के साथ यौन शोषण के मामले में गुनाहगार साबित हो चुके हैं और उन्हें 10 साल की सज़ा भी सुना दी गयी है.

इस वक्त जो सबसे बड़ी खबर सामने आ रही है वो यह है कि डेरा के आर्यनगर की गली नंबर एक से एक कार के पास से एक बैग बरामद हुआ है जिसमें पेट्रोल की बोतलें और बम रखे हुए थे. यह खबर 26 अगस्त की सुबह करीब 11 बजे पुलिस को दी गयी थी जिसके बाद से ही आर्यनगर में दहशत का माहौल सा बन गया था. हालाँकि पुलिस ने उस बैग को हिरासत में ले लिया है और उसकी जांच शुरू कर दी है. कहा जा रहा है की जिस जगह से ये बैग बरामद हुआ था उसी के पास डेरा प्रमुख अनुयायी का घर भी है.

आर्यनगर निवासी पवन कुमार का कहना है कि जब वह सुबह उठकर अपनी गाड़ी के पास गए तो उन्हें वहां एक संदिग्ध बैग दिखाई दिया, उस बैग को जब चेक किया गया तो तो उसमें पेट्रोल से भरी हुई बोतलें रखी हुई थीं. इतना ही नहीं पवन कुमार ने बताया कि पास में ही डेरा प्रमुख अनुयायी का घर है और रात करीब 2 बजे 4 गाड़ियों में सवार होकर 20 से 25 लोग आए हुए थे जिसमें से डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की बेटी हनीप्रीत भी शामिल थीं.

पवन कुमार का आरोप है कि डेरामुखी समर्थक उसकी गाड़ी को उड़ाने के लिए यहां बैग रखकर गए हैं. इसीलिए इस काले रंग के बैग में पेट्रोल से भरी हुई 5 बोतलें बरामद हुई जिसमें से 4 बोतल 1-1 लीटर की हैं, और एक बोतल 2 लीटर की थीं.

वहीँ पुलिस ने डेरा प्रमुख अनुयायी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. यहां पर डेरा अनुयायी के दो घर अस्थायी तौर पर सील कर दिए गए हैं.पुलिस का कहना है कि घरों के मालिक आने पर विधिवत रूप से तलाशी ली जाएगी.