25 अगस्त को राम रहीम को दोषी करार दिया गया तो उसके समर्थकों ने उत्पात मचाना शुरू कर दिया जिसमें 38 लोगों की जान चली गयी. उसके बाद बाबा और उनके समर्थक 28 अगस्त का इंतजार कर रहे थे कि उन्हें सजा कितने साल की मिलती है. आखिर वो समय भी आ ही गया और सीबीआई की अदालत ने 28 अगस्त सोमवार को राम रहीम को 20 साल की कठोरतम कारावास की सजा सुनाई. 20 साल की सजा सुनते ही राम रहीम ने कोर्ट छोड़ने से इंकार कर दिया था, जिसके बाद उसे जबरदस्ती कोर्ट रूम से बाहर निकाला गया. बाबा की मेडिकल जांच के बाद उसे फिर जेल भेज दिया जाएगा.

आपको बता दें कि राम रहीम को जेल में मिले VIP ट्रीटमेंट को लेकर चल रही ख़बरों पर कोर्ट ने पुलिस और जेल प्रशासन को जमकर फटकार लगायी और कहा कि ‘राम रहीम को जेल में सामान्य कैदियों की तरह सुविधाएं मिले, उनके लिए कोई अलग से इंतजाम ना किये जाये.’

सुरक्षा के कड़े इंतजाम 

आपको जानकारी के लिए बता दें कि राम रहीम  को सीबीआई की स्पेशल अदालत ने शुक्रवार को साध्वी के साथ रेप के मामले में दोषी करार दिया था. जिसके बाद बाबा के गुंडों ने कई जगहों पर जमकर उत्पात मचाया था. आगजनी, उपद्रव, हिंसा से पंचकूला के साथ साथ देश के कई प्रदेशों में जमकर हंगामा हुआ था. इस सबके मद्देनजर रखते हुए सजा के एलान के दिन पुलिस ने कड़े इंतजाम किये है.