आज पूरी दुनिया भारत और चीन को प्रतिद्वंदी के रूप में देखती है. ये दोनों मुल्क हैं तो एशिया महाद्वीप में लेकिन इन दोनों ने ही पूरी दुनिया पर अपनी छाप छोड़ी है. वहीं दोनों देशों के बीच कुछ ऐसे मुद्दे भी हैं जिनको लेकर दोनों आपस में उलझते भी रहते हैं. अभी हाल ही में डोकलाम मुद्दे को लेकर दोनों के बीच तनातनी हुई थी जिसमें भारत की रणनीतिक जीत हुई थी और अब खबर आ रही है कि कारोबार की दुनिया में भी भारत चीन का सबसे बड़ा प्रतिद्वंदी बनता जा रहा है.

source

दैनिक जागरण की एक खबर के अनुसार, विश्व बैंक द्वारा जारी की गई एक रिपोर्ट ‘ईज ऑफ़ डूइंग बिजनेस 2018’ रिपोर्ट ने साफ़ कर दिया है कि उद्योग जगत को एक बेहतर माहौल देने में भारत चीन से कहीं भी पीछे नहीं है. कर अदाएगी के मामले में भारत ने चीन को पछाड़ दिया है. इसमें भारत का स्थान 119वां है जबकि चीन का स्थान 130वां है. वहीं छोटे कारोबारियों के हितों की रक्षा करने में भी भारत, चीन से आगे है. भारत को इस मामले में चौथा स्थान दिया गया है जबकि चीन को 119वें स्थान पर रखा गया है.

source

कर्ज लेने के मामले में भी भारत, चीन से पीछे है. इस लिस्ट में भारत को 29 वां स्थान मिला है जबकि चीन को 68 वां स्थान मिला है. लोगों को बिजली कनेक्शन देने के मामले में भी भारत चीन से बेहतर है. रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि बेहतर सुधार करने वाले 10 देशों में दक्षिण एशिया और ब्रिक्स समूह से सिर्फ एक ही देश शामिल है जोकि भारत है. रैंकिंग सुधार करने के मामले में भी भारत पांचवे स्थान पर आ गया. इन सब आंकड़ों को देखने के बाद पता चल जाता है कि मोदी सरकार के नेतृत्व में देश ने प्रगति की है और कई सुधार भी देश में हुए हैं. इस रिपोर्ट को देखने के बाद कांग्रेस के खेमे में खलबली मच सकती है जो आए दिन बीजेपी पर झूठे आरोप लगाती रहती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here