हाल ही में एक ख़बर आई कि सुप्रीम कोर्ट ने 2008 मालेगांव बम विस्फोट के मुख्य आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत प्रसाद पुरोहित को जमानत दे दी है. जानकारी के लिए बताया गया कि बॉम्बे हाईकोर्ट से जमानत याचिका खारिज होने के बाद कर्नल पुरोहित ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगाई थी. यहाँ अपना पक्ष रखते हुए लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित ने सुप्रीम कोर्ट को बताया था कि उन्होंने इस हमले में आर्मी की तरफ से एक गुप्तचर के तौर पर काम किया था. वो कभी भी किसी आतंकवादी गतिविधियों में शामिल थे ही नही.

source

यहाँ पढ़िए कांग्रेस की कर्नल पुरोहित पर की गयी क्रूरता

ऐसे में हाल ही में रिहा हुए लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित का सेना की वर्दी में एक फोटो अनुपम खेर ने अपने अकाउंट परशेयर किया है. उनके इसी फोटो को अनुपम खेर ने ट्वीटर पर शेयर किया है. फोटो को शेयर करते हुए अनुपम ने लिखा है कि “भारतीय सेना की वर्दी में दोबारा आपको देखकर खुशी हुई लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित, आपका तहेदिल से स्वागत है.”

source

ऐसे में ट्विटर यूजर भी भला कहाँ ही पीछे रहते. उन्होंने भी कर्नल पुरोहित की इस तस्वीर पर मिली-जुली प्रतिक्रिया देनी शुरू कर डाली. एक यूजर ने कहा कि, “आप पर ये वर्दी कांग्रेस की काली करतूतों की याद दिलाती रहेगी. अच्छा लगा आपको एक बार फिर सेना की वर्दी में देखकर.”

जानकारी के लिए बता दें कि 9 साल बाद नवी मुंबई के तलोजा जेल से रिहा हुए लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित रिहाई के बाद सीधे कोलाबा में मिलिट्री इंटेलिजेंस की अपनी यूनिट में गए थे. सेना की ओर जारी बयान में कर्नल पुरोहित को लेकर कुछ नियम कायदे बताए गए थे. लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित को 20 जनवरी 2009 को गिरफ्तारी के कारण निलंबित किया गया था.