मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा किसी भी विषय पर इस्लाम के खिलाफ बोलने या कुछ ऐसा काम करने पर जो इस्लाम में या उनके खिलाफ गलत ठहराया जाए. उसको लेकर मौलाना फ़तवा जारी कर देते हैं. किसी मुस्लिम व्यक्ति द्वारा हिंदू धर्म की प्रशंसा करने पर फतवा जारी हो जाता है. अभी हाल ही में बॉलीवुड अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्द्की ने अपने दो वर्षीय बेटे की श्री कृष्ण के रूप में पहने कपड़ों की फोटो सोशल मीडिया पर डाल दी जिसके बाद लोगों ने उनके ऊपर जमकर प्रतिक्रियाएं दी.

Source

ऐसा ही कुछ पाकिस्तान के कराची में जन्में मशहूर तारेक फ़तेह ने ट्वीट कर लिखा जय श्री राम अब जो उखा… इस ट्वीट के बाद एक मुस्लिम महिला ने उनके इस ट्वीट का समर्थन करते हुए रीट्वीट किया.

फतिमा भारतीय नाम की इस यूज़र ने रीट्वीट करते हुए लिखा कि सर जी आप ही इन इस्लाम के ठेकेदारों मौलानाओं को सबक सिखा सकते हैं लिख कर फतिमा ने लिख दिया मैं भी कहती हूँ जय श्री राम अब दो फतवा. जिसके बाद ट्वीटर पर मुस्लिम लोगों ने जमकर उनके इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया दी हैं.

फतिमा के इस ट्वीट पर मुबाशेर इल्यास नाम के इस यूज़र ने लिखा है कि कसूर आप लोगों का नहीं है आपकी परवरिश की है जिस गंदी नाली में पैदा हुए हो वहां से और क्या उम्मीद की जा सकती है.

मुबाशेर इल्यास के इस रिप्लाई का जवाब देते हुए सुनील भट्ट नाम के इस यूज़र ने लिखा कि लगता है तेरा बाप तेरा मामू भी है. पाकिस्तानी अब कुत्ते खा रहे हैं सेप्टिक टैंक है पाकिस्तान यह कहकर सुनील नाम के इस यूज़र ने करार जवाब दिया.

फतवे जारी करने वाले मौलानाओं को करारा जवाब देते हुए इस यूज़र ने कहा कि मैं हिंदू हूँ और में कह देता हूँ अल्लाह हु अकबर. अब मेरा धर्म तो खतरे में नहीं आया. यह लिखकर इस यूज़र ने यह कहना चाह कि जब हम यह बोल सकते हैं तो कोई मुस्लिम जय श्री राम बोल देता है तो तुम लोगों का धर्म खतरे में आ जाता है. फिर उसे फतवे जारी कर दिए जाते हैं.

श्रीराम मंडल नाम के इस यूज़र ने लिखा कि जिस दिन हमारे भारत में हर हिंदू मुस्लिम एक हो जाए उस दिन हमारा देश सच में आजादी पायेगा.