हाल ही में वृन्दावन में संघ की एक मीटिंग रखी गयी थी. जायज़ है इस मीटिंग में काफी बड़े और नामचीन लोग भी पहुंचे थे, लेकिन संघ की इस मीटिंग में लोगों की नज़र जब सबसे आखिर की पंक्ति पर पड़ी तो वहां मौजूद शख्स को देखकर एक बार को तो मानो लोगों को विश्वास ही नहीं हुआ. पंक्ति के आखिर में बैठा ये शख्स बीजेपी का सबसे शक्तिशाली इंसान माना जाता है.

source

ये भी कहना गलत नहीं होगा कि इस ताकतवर इंसान के सामने बड़े-बड़े नेता भी बैठने या टिकने से कतराते हैं. ये शक्तिशाली शख्स कोई और नही बल्कि अमित शाह थे. जी हाँ वो ही अमित शाह जिसे आज के समय में बीजेपी का चेहरा कहा जाता है. देश की सबसे बड़ी पार्टी के इतने ऊँचे रसूख वाले नेता को जहाँ सबसे आगे, सबसे पहली पंक्ति में रहने की आदत होगी लेकिन इस तस्वीर को गौर से देखिए. तस्वीर वृंदावन में चल रही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की समन्वय बैठक की है.

source

जानकारी के मुताबिक इस बैठक में संघ और उसके अनुसांगिक संगठनों के कई बड़े और नामचीन पदाधिकारी इकट्ठा हुए थे और इन्ही पदाधिकारियों की बैठक में पीछे से तीसरी पंक्ति में भाजपा का यह सबसे ताकतवर चेहरा भी नज़र आ रहा है. अमित शाह के साथ ही इस तस्वीर में नज़र आ रहे हैं भाजपा के महामंत्री रामलाल. बता दें कि संघ की तीन दिन की यह बैठक एक सितंबर को शुरू हुई है. जानकारी के लिए बता दें कि इस बैठक के दौरान संघ अपने घरेलू और बाहरी मुद्दों पर चर्चा करता है और कामकाज का फीडबैक लेता है.

source

संघ इन मीटिंग्स के ज़रिये अलग-अलग हिस्सों में हो रहे कामकाज की रिपोर्ट लेता है और साथ ही कामकाज में आ रही अड़चनों पर भी चर्चा की जाती है. ऐसे में इस पार्टी में अमित शाह पार्टी अध्यक्ष के नाते और रामलाल पार्टी में महामंत्री के नाते उपस्थित हुए थे. यही वजह है कि कैबिनेट विस्तार की तैयारियों और गुजरात और हिमाचल चुनाव की रणनीति पर व्यस्त होते हुए भी अमित शाह को संघ की इस बैठक में हाजिरी दर्ज करानी पड़ी.