पीएम मोदी कितने जुझारू और कर्मठ प्रधानमंत्री हैं यह बात तो सभी जानते हैं. पीएम मोदी का नाम देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी शुमार है. भारत में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी पीएम लिए जनता की इतनी दीवानगी दिखाती है. छोटे से छोटे बच्चे के भी जुबान पर प्रधानमंत्री मोदी का नाम है और उसे ये मालूम भी है कि उनके देश का प्रधानमंत्री कौन है.

source

प्रधानमंत्री मोदी को लेकर हमेशा यह बातें सुर्ख़ियों में रहती हैं कि वे अपने काम को लेकर कितना कर्मठ रहते हैं इतना ही नहीं पीएम मोदी खुद तो काम करते ही हैं साथ के साथ अपने मंत्रालय के सभी मंत्रियों के साथ मीटिंग भी करते रहते हैं ताकि वे हर दिन का पता लगा सकें कि आखिर उनके मंत्री क्या काम कर रहे हैं. अगर कोई मंत्री ढीला दिखाई देता है तो उसे पीएम मोदी फटकार भी लगाते हैं. लेकिन इस बार पीएम मोदी को लेकर जो बात सामने आई है उसे सुनकर हर कोई हैरान है कि क्या वाकई पीएम मोदी ऐसे हैं.

source

जी हाँ इस बार पीएम मोदी को लेकर खुलासा किसी और ने नहीं बल्कि उनकी ही पार्टी के सांसद नाना पटोले ने किया है. इतना ही नहीं नाना पटोले ने तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ एक मोर्चा भी खोल दिया है. नाना पटोले ने खुलासे में कहा है कि पीएम मोदी को सवाल पूछे जाना बिलकुल भी पसंद नहीं है. 

source

भारतीय जनता पार्टी के सांसद नाना पटोले ने बताया है कि भाजपा सांसदों की एक बैठक हो रही थी जिसमें उन्होंने ओबीसी मंत्रालय और किसानों की आत्‍महत्‍या का मुद्दा उठाना चाहा था तो प्रधानमंत्री मोदी उनसे नाराज हो गए थे. यह बात नाना पटोले ने नागपुर में आयोजित हुए कार्यक्रम में जनता को संबोधित करते हुए कही थी कि जब मैंने ओबीसी मंत्रालय और किसान आत्‍महत्‍या से जुड़े मुद्दे पर पीएम से सवाल पूछा तो वे गुस्सा हो गए और कहने लगे कि “क्‍या आपने पार्टी मैनिफेस्‍टो पढ़ा है और विभिन्‍न सरकारी योजनाओं से रूबरू हैं.”

source

अभी कुछ ही दिन पहले खबर थी कि बीजेपी सांसदों की बैठक में पीएम मोदी ने नाना पटोले को जमकर सुनाया था लेकिन इस बात पर भी नाना पटोले बोलते हैं कि मैंने तो  ”मैंने ग्रीन टैक्‍स बढ़ाने, ओबीसी मंत्रालय और खेती में और केंद्रीय निवेश जैसे कुछ सुझाव दिए थे जिसपर प्रधानमन्त्री साहब नाराज़ हो गए थे और मुझे चुप रहने को कह दिया था.

source

नाना पटोले ने एक और खुलासा करते हुए बताया कि पार्टी के सभी केंद्रीय मंत्री हमेशा पीएम मोदी से डर कर रहते हैं इसीलिए मैं मंत्री नहीं बनना चाहता, मैं तो हिटलिस्‍ट में हूं मगर मैं डरता किसी से नहीं हूँ.