उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महिलाओं के सम्मान और सुरक्षा की कितनी भी बातें कर लें लेकिन प्रदेश में महिलायें के उपर अत्याचार की ख़बरें लगातार आती रहती है. यह बात तो तब और शर्मनाक हो जाती है जब योगी के आवास पर कोई महिला छेड़खानी और गाली गलौच का आरोप लगाये. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रदेश सरकार द्वारा सीएम आवास पर जन समस्याओं के समाधान करने के लिए जनता दरबार लगाया गया था लेकिन इस जनता दरबार में एक महिला ने बड़ी समस्या खड़ी कर दी है.

महिला ने लगाया  छेड़खानी का आरोप  

आपकी जानकारी के बता दें कि मुख्यमंत्री आवास पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जनता दरबार लगाया था जिसमें महिलाओं की समस्या लेकर पहुंची एक महिला ने मुख्यमंत्री के कर्मचारियों पर छेड़खानी करने और गाली गलौच करने का आरोप लगाया है. महिला अपना नाम कीर्ति द्विवेदी बता रही है .उसका कहना है कि वो अपने आसपास की महिलाओं की समस्या को लेकर मुख्यमंत्री से मिलने पहुंची थी.

सुरक्षाकर्मियों ने की अश्लील बातें!

महिला का कहना है कि पहले कर्मचारियों ने उसे जनता दरबार में जाने से रोका. किसी तरह जब वह अंदर पहुंच गयी तो कर्मचारियों ने उसके साथ अश्लील बातें की और उसे थप्पड़ मार के बाहर निकाल दिया उसके बाद महिला विधानसभा के बाहर गयी और वहां कुछ महिलाओ के साथ प्रदर्शन करने लगी जिसके बाद पुलिस को खबर मिली. पुलिस जाकर महिलाओं को शांत करायी.

https://youtu.be/c1OPOkotJ1U

महिला का कहना है कि उसने न्यूज चैनल और पेपर में पढ़ा था कि मुख्यमंत्री खुद जनता दरबार में आते है वह काफी उम्मीद लेकर मुख्यमंत्री के आवास पांच कालिदास मार्ग पर आई थी. अब महिला और मुख्यमंत्री के कर्मचारियों के बीच जो भी कुछ हुआ जांच के बाद ही सामने आएगा लेकिन अगर यह घटना महिला के कहने के अनुसार हुई तो यह बेहद शमर्नाक है. जिस प्रदेश में मुख्यमंत्री ने महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा के एंटी रोमियो अभियान चलाया था उस प्रदेश के मुख्यमंत्री के आवास पर यह घटना शर्मनाक है.