कभी कांग्रेस के लिए चाणक्य भूमिका और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के सलाहकार माने जाने वाले दिग्गज नेता माखनलाल फोतेदार  का निधन हो गया . फोतेदार के निधन से कांग्रेस को एक बड़ा  झटका लगा है. 85 साल के फोतेदार ने गुरूवार को गुरुग्राम के एक अस्पताल में आखिरी सांस ली. फोतेदार पूर्व केंद्रीय मंत्री थे. माखनलाल इंदिरा गांधी के बेहद करीबी नेता  थे. उन्हें राजनीति का चाणक्य भी कहा जाता था

Source

. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने माखनलाल के निधन पर दुःख जताया है.उन्होंने कहा कि ‘वे अपने पांच दशक के लंबे और सक्रिय राजनीतिक करियर में बिना थके और रुके लोगों के अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ते रहे और उनकी सेवा करते रहे’. 

Source

इसके साथ ही सोनिया गांधी ने कहा कि “वे हमेशा कांग्रेस को मार्गदर्शन करने वालों में से एक थे. उनकी रिक्त जगह कभी नही भरी जा सकती.” मूलतः कश्मीर के रहने वाले माखनलाल फोतेदार को राजनीति में पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु लेकर आये थे जो बाद में बड़े नेता बनकर उभरें थे.

Source

इंदिरा गांधी ने उन्हें 1980 में अपना निजी सचिव नियुक्त किया  और उनकी हत्या के बाद माखनलाल  तीन साल तक राजीव गांधी के  राजनीतिक सचिव के तौर पर रहे बाद में उन्हें कैबिनेट में जगह दे दी गयी. पहलगाम से विधायक रहे माखनलाल ने कश्मीर विधानसभा में काफी समय बिताया था  . वे दो बार राज्यसभा सांसद भी रहे थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here